File Photo
File Photo

  • 232 नाले सम्पूर्ण शहर में हैं
  • 190 नालों की हो चुकी है सफाई

नागपुर. बारिश के पूर्व नदियों के साथ ही नाला सफाई का कार्य भी मनपा की ओर से लगभग एक माह पूर्व शुरू किया गया. आश्चर्यजनक यह है कि एक माह के भीतर ही नाला सफाई का काम अंतिम चरणों में पहुंचा दिया गया है, जबकि नदियों के सफाई का कार्य अभी भी जारी है. मनपा अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार शहर में छोटे-बड़े मिलाकर कुल 232 नाले हैं जिनमें से अब तक 190 की सफाई की जा चुकी है. हालांकि अधिकांश नालों की सफाई मशीनों से होती है. अत: इनका कार्य लगभग अंतिम चरणों में पहुंच गया है. बारिश की संभावना को देखते हुए नाला सफाई के कार्य को गति भी प्रदान की जा चुकी है.

वर्षभर चलती है छोटे नालों की सफाई 

अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार बड़े नालों की सफाई अभियान के तौर पर भले ही बारिश के पूर्व होती हो लेकिन छोटे नालों की सफाई का काम वर्षभर चलता रहता है. शहर के विभिन्न इलाकों में छोटे नालों की सफाई को जोन के माध्यम से सुनिश्चित किया जाता है. इसके लिए अलग से टीमें होती हैं. अत: जहां भी नाला अवरुद्ध होने या कचरा निकालने के लिए शिकायत प्राप्त होती है, तुरंत मनपा इसकी सफाई में जुट जाती है. छोटे नाले शहर के रिहायशी इलाकों से होकर गुजरने के कारण हमेशा ही इनमें कचरा फैला रहता है. कई बार लोगों को अपील के बावजूद इनमें कचरा फेंका जाता है जिससे इनकी सफाई का काम वर्षभर करना होता है. 

मैन्युअल नालों की सफाई के लिए टीमें

बारिश के पूर्व विशेष रूप से बड़े नालों की सफाई मशीन से की जाती है, जबकि छोटे नालों की सफाई मैन्युअल पद्धति से होती है. इसके लिए अलग से कर्मचारियों की टीमें लगाई जाती हैं. वर्तमान में कुल 80 से 90 कर्मचारी नाला सफाई में जुटे हुए हैं. जबकि जोनल कार्यालय की ओर से अलग टीमों को लगाया गया है. बारिश के पूर्व निश्चित ही नाला सफाई का काम पूरा होगा. इसके लिए कुल 12 पोकलेन मशीनों को भी लगाया गया है. 

-प्रदीप दासरवार, स्वास्थ्य अधिकारी, मनपा.