Anil Deshmukh
File Photo

  • गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा होगी कड़ी कार्रवाई

नागपुर. राज्य के अलावा देश भर में नागपुर सिटी को क्राईम कैपिटल की तौर पर जाना जाता था, लेकिन शहर पर लगा हुआ बदनामी का दाग मिटाने के लिए गृहमंत्री के तौर पर मैं हर मुमकिन कोशिश कर रहा हुं. पिछले कुछ समय में नामी अपराधियों पर कड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हें जेल भेजा गया है. सिटी में अब अपराधियों को खैर नहीं होगी. आगे भी इस प्रकार कार्रवाई करते हुए गुडों को धरदबोच ने के लिए पुलिस विभाग द्वारा सख्त से सख्त कदम उठाए जाने का आश्वासन गृहमंत्री अनिल देशमुख ने दिया है.

उन्होंने कहा कि सीपी बी.के. उपाध्याय के मार्गदर्शन में अपराधियों को धरपकड़ने का उत्कृष्ट काम किया जा रहा है. सिटी के 118 अपराधियों पर मोका अंतर्गत कार्रवाई करते हुए अब तक 51 आरापियों को तड़ीपार किया गया है. संतोष आंबेकर हो या साहिल सैय्यद कोई पुलिस की गिरफ्त से बच नहीं पाया है. यहां तक कि पुलिस ने दोनों अपराधियों के आलिशान बंगलों को भी नेस्तों नाबूद कर दिया है. इसके अलावा रोशन शेख, प्रीती दास, मंगेश कड़व, तपण जायसवाल व नार्कोटिक गैगस्टर आबू अण्णा के खिलाफ कड़ी कार्रर्वार की जा रही है. मैंने भी स्वयम कई बार सिटी में हो रहे आपराधिक घटनाओं की समीक्षा की है. सिटी में अब कौनसा बदमाश खुले आम घूम रहा है इसकी जानकार पुलिस अधिकारियों से मांगी गई है लेकिन अच्छी बात यह है कि अब शहर में कोई ऐसा अपराधी नहीं बचा है. 

मुझे देंअपराधियों की जानकारी
अनिल देशमुख ने नागरिकों से आव्हाण करते हुए कहा कि यदि कोई परिसर में ऐसा गुंडा हो तो उसका चिठ्ठा लेकर मेंरे पास आए. आरोपी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई किये जाने का आश्वासन उन्होंने नागरिकों को दिया. यदि कोई अपराधी आपकों परेशान कर रहा हो तो रविभवन स्थित कक्ष क्रमांक 11 में शिबिर कार्यलय में पुख्ता सबूतों के साथ शिकायत कर सकते है. 20 से 25 अगस्त तक दोपहर 3 से 4 बजे तक विशेष कार्यअधिकारी डॉ. संजय धोटे के पास सबूतों को जमा कर शिकयात कर सकते है. अपराधियों संबंधित दिये जाने वाली जानकारी, सबूत और शिकायतकर्ता की पहचान को गोपनिय रखा जाएगा. संबंधित मामलों की बारिकी से जांच कर आरोपियों को सलाखों के पिछे भेजे जाने का आश्वासन उन्होंने दिया.