Voting

  • 17 टीमें बुजुर्ग व दिव्यांग मतदाताओं के घर पहुंच रहीं

नागपुर. नागपुर पदवीधर चुनाव की वोटिंग 1 दिसंबर को होनी है लेकिन 80 वर्ष से अधिक उम्र के ज्येष्ठ मतदाताओं और दिव्यांग वोटरों के लिए चुनाव आयोग के निर्देश पर उनके घर से पोस्टल मतदान की व्यवस्था की गई है. शनिवार को जिले में ऐसे 218 लोगों के घरों में टीम पहुंची और उनमें से 154 मतदाताओं ने अपने घर से ही वोटिंग की. इस सुविधा से मतदाताओं में हर्ष है. जिला प्रशासन ने सिटी में 14 और ग्रामीण भागों में 3 समेत कुल 17 मतदान टीम तैयार की हैं. इनमें नायब तहसीलदार, लिपिक, कांस्टेबल और वीडियोग्राफर का समावेश है.

जिलाधिकारी रवीन्द्र ठाकरे ने बताया कि टीमों ने मतदाताओं से वोटिंग करवाकर सीलबंद लिफाफा जिलाधिकारी कार्यालय में जमा किया है. रविवार को शेष मतदाताओं के घर जाकर पोस्टल मतदान करवाया जाएगा. इस सारी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी जा रही. सुरक्षा के लिए पुलिस कांस्टेबल टीम के साथ रखा गया है. मतदाताओं को फोन व मोबाइल से इसकी पूर्व सूचना दी गई और उन्हें ई-मेल भी किया गया. पूरी प्रक्रिया पारदर्शिता के साथ की जा रही है.

चुनाव यंत्रणा पूरी तरह सज्ज

ठाकरे ने बताया कि 1 दिसंबर को होने वाले मतदान के लिए पूरी यंत्रणा तैयार है. वोटिंग के दौरान किसी तरह की अनुचित घटना ना हो इसलिए पुलिस बंदोबस्त की व्यवस्था की गई है. पूरे संभाग में 322 मतदान केन्द्रों पर वोटिंग होगी. सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक वोटिंग का समय रखा गया है. मतदाताओं को पसंदीक्रम पर वोटिंग करना है और उन्हें मतदान केन्द्रों पर रखे गए जामुनी रंग की स्याही वाले पेन से ही वोटिंग करनी है. अगर उन्होंने दूसरे पेन का उपयोग किया तो वोट अवैध माना जाएगा. वहीं एक उम्मीदवार के सामने एक ही पसंदीक्रम लिखना होगा अगर किसी एक उम्मीदवार के नाम के सामने 1,2,3 पसंदीक्रम लिख दिया गया तो ऐसा वोट भी अवैध करार दिया जाएगा. 

100 फीसदी मतदान की अपील

जिलाधिकारी ने सभी स्नातक मतदाताओं से अपने मतदान के अधिकारी का उपयोग करने की अपील की है. उन्होंने 100 फीसदी मतदान की अपील मतदाताओं से की है. 1 दिसंबर की वोटिंग के बाद 3 दिसंबर को मानकापुर स्थित विभागीय क्रीड़ा संकुल में सुबह 8 बजे से वोटों की गिनती की प्रक्रिया शुरू होगी. इसी दिन परिणाम भी घोषित किए जाएंगे.