Voting started for gram panchayats in Rajasthan
File Photo

  • 322 मतदान केन्द्र, 1,288 अधिकारी-कर्मचारी नियुक्त, 2,06,454 मतदाता

नागपुर. विधान परिषद के नागपुर संभाग पदवीधर चुनाव के लिए 1 दिसंबर को सुबह 8 बजे से मतदान शुरू हो जाएगा. संभाग के 6 जिलों में इसके लिए 322 मतदान केन्द्रों में 1,288 अधिकारी व कर्मचारियों को ड्यूटी पर लगाया गया है. शाम 5 बजे तक होने वाले मतदान में कुल 2,06,454 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे. विभागीय आयुक्त संजीव कुमार ने बताया कि शांतिपूर्ण व पारदर्शी तरीके से मतदान कराने के लिए पूरी यंत्रणा सज्ज है.

कोविड-19 के दिशानिर्देशों की तरह प्रत्येक मतदाता की थर्मल स्क्रीनिंग के बाद ही उसे प्रवेश दिया जाएगा. चुनाव आयोजित करने के लिए लगने वाली मतपत्रिका, पेटियों, पेन व अन्य सामग्रियों का वितरण सेंट उर्सुला हाईस्कूल में सुबह से ही किया गया ताकि अधिकारी-कर्मचारी अपने मतदान केन्द्र में पहुंच जाएं व सुबह से मतदान करवाएं. प्रत्येक केन्द्र में 7 कर्मचारी होंगे. मतदान केन्द्र प्रमुख, 2 मतदान अधिकारी, माइक्रो आब्जर्वर, पुलिसकर्मी इसमें शामिल हैं. नागपुर जिले में सर्वाधिक 164 मतदान केन्द्र हैं और मतदाताओं की संख्या भी 1,02,809 है.

ये उतरे हैं मैदान हैं

इस चुनाव में 19 उम्मीदवार मैदान में अपनी किस्मत आजमाने उतरे हैं, जिनमें कांग्रेस से अभिजीत वंजारी, भाजपा से संदीप जोशी, रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया से राजेन्द्र कुमार चौधरी, वंचित बहुजन आघाड़ी से राहुल वानखेड़े, इंडियन नेशनल मानवाधिकारी पार्टी की एड. सुनीता पाटिल का समावेश है. इनके अलावा बतौर निर्दलीय उम्मीदवार अतुलकुमार खोब्रागडे, अमित मेश्राम, प्रशांत डेकाटे, नितिन रोघे, नितेश कराले, डॉ. प्रकाश रामटेके, बबन उर्फ अजय तायवाडे , एड. मोहम्मद शाकिर अ. गफ्फार, राजेद्र भूतड़ा,  डॉ. विनोद राऊत , एड. वीरेंद्र कुमार जायस्वाल , शरद जीवतोड़े ,  संगीता बढे, संजय नासरे भी मैदान में हैं. 

PPE किट की व्यवस्था

जिलाधिकारी रवीन्द्र ठाकरे ने बताया कि कोविड-19 के नियमों का पालन करने की पूरी व्यवस्था की गई है. मतदान केन्द्रों पर सैनिटाइजर, मास्क, ग्लब्ज की व्यवस्था की गई है. अगर किसी मतदाता को कोरोना जैसे लक्षण होने का संदेह होता है तो उन्हें मतदान केन्द्र से वापस भेज दिया जाएगा और फिर उन्हें शाम 4 से  5 बजे के बीच मतदान के लिए बुलाया जाएगा. कोरानाग्रस्त मतदाताओं के लिए 4 से 5 बजे तक मतदान की व्यवस्था की गई है. इस दौरान चुनाव ड्यूटी पर लगे अधिकारी व कर्मचारियों को उपयोग के लिए पीपीई किट का वितरण किया गया है. फेसफील्ड, मेडिसिन किट जिसमें पैरासिटामाल सहित अन्य दवाइयां हैं, वह भी दे गई हैं. 

मतदान केन्द्रों के लिए बसें

ठाकरे ने बताया कि चुनाव ड्यूटी पर लगे अधिकारी-कर्मचारियों को सारी चुनाव सामग्रियों के साथ उनके मतदान केन्द्रों तक पहुंचाने के लिए बसों की व्यवस्था की गई. पुलिस के तगड़े बंदोबस्त के बीच उन्हें रवाना किया गया. वर्धा जिले में 23,068, भंडारा में 8,434, गोंदिया 16,934, गड़चिरोली 12,448, चंद्रपुर 32,761 मतदाता वोटिंग करेंगे. सभी अधिकारी-कर्मचारियों को चुनाव आयोजित करवाने के लिए लगातार प्रशिक्षण दिया गया है. 

वेबकास्टिंग से रहेगी नजर

जिले के सारे 164 मतदान केन्द्रों की वेबकास्टिंग की गई है जिसके जरिये जिलाधिकारी व चुनाव सहायक अधिकारी रवीन्द्र ठाकरे मतदान के दौरान सभी केन्द्रों पर नजर रखेंगे. इस सिस्टम का उन्होंने निरीक्षण किया और उपस्थित अधिकारियों को कुछ दिशानिर्देश भी दिए. इस दौरान उपजिलाधिकारी मीनल कलसकर, जिला सूचना अधिकारी हरीश अय्यर सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे.