ABVP pressure, university withdraws, refuses to give vice-chancellor speech in anti-naxal program

  • विवि ने की तैयारी, पीजी के परीक्षा लेंगे कॉलेज
  • 25 से शुरू होगी परीक्षा
  • 40 प्रश्न होंगे अनिवार्य
  • 02 अंक होंगे हर प्रश्न पर

नागपुर. आरटीएम नागपुर विवि द्वारा शीत सत्र 2020 की परीक्षाएं 25 मार्च से ली जाएगी. स्नातकोत्तर सहित बैक सबजेक्ट वाले छात्रों की परीक्षा कॉलेज स्तर पर होगी, जबकि स्नातक की परीक्षा विवि द्वारा ली जाएगी. पिछले वर्ष की तरह ही परीक्षा का पैटर्न होगा. लेकिन इस बार छात्र मोबाइल के साथ ही लैपटॉप और कम्प्यूटर का भी उपयोग कर सकेंगे. इतना ही नहीं जिन छात्रों के पास सुविधा का अभाव हैं, वे संबंधित कॉलेज में जाकर वेबकैम युक्त कम्प्यूटर पर परीक्षा दे सकेंगे.

कोरोना काल की वजह से इस बार भी ऑफलाइन परीक्षा नहीं हो रही है. पिछले वर्ष केवल अंतिम वर्ष के छात्रों की ऑनलाइन परीक्षा ली गई थी. जबकि अन्य सेमेस्टर के छात्रों को प्रमोट किया गया था. लेकिन बैक सबजेक्ट वालों की परीक्षा कॉलेज स्तर पर ली गई थी. इस बार भी स्थिति में सुधार नहीं हुआ है. पिछले दिनों उच्च व तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने ही स्पष्ट कर दिया था कि इस बार भी ऑनलाइन परीक्षा ही ली जाएगी. परीक्षा के लिए विवि ने टास्क फोर्स गठित की है जो समूची व्यवस्था पर नजर रखेगी.

अंतिम दौर में प्रैक्टिकल परीक्षाएं 

फिलहाल कॉलेजों में प्रैक्टिकल परीक्षाएं अंतिम दौर में चल रही है. इसके बाद 25 मार्च से लिखित परीक्षाओं का दौर आरंभ हो जाएगा. बहुपर्यायी पद्धति से परीक्षा लेने से सभी प्रश्नों को हल करना अनिवार्य होगा. परीक्षा में 40 प्रश्न पूछे जाएंगे. सभी प्रश्न अनिवार्य होंगे और हर प्रश्न पर 2 अंक दिये जाएंगे. स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम के तहत दो वर्षीय कोर्स के तीसरे सेमेस्टर, तीन वर्षीय कोर्स के तीसरे, पांचवे सेमेस्टर के नियमित व अनुत्तीर्ण छात्रों की लिखित परीक्षा 25 मार्च से 10 अप्रैल तक ली जाएगी. यह परीक्षा कॉलेज स्तर पर ली जाएगी. इसके साथ ही जिन पाठ्यक्रम में 100 से कम छात्र होंगे, उनकी परीक्षा भी कॉलेज स्तर पर ही ली जाएगी. जबकि स्नातक के सभी सेमेस्टर की परीक्षा विवि द्वारा ही जाएगी. छात्र परीक्षा के लिए मोबाइल के साथ ही कम्प्यूटर और लैपटॉप का इस्तेमाल कर सकते हैं. जिन छात्रों के पास कोई भी सुविधा नहीं है वे अपने कॉलेज के कम्प्यूटर का उपयोग कर सकते हैं. परीक्षा की समयावधि 1 घंटा होगी. 

बीई सातवें सेमेस्टर की एग्जाम

इंजीनियरिंग परीक्षाओं के अंतर्गत पहले सातवें सेमेस्टर की परीक्षा 25 मार्च से ली जाएगी. अब तक तीसरे और पांचवे सेमेस्टर का टाइम टेबल घोषित नहीं किया गया है. हालांकि सातवें सेमेस्टर के छात्र अभी 8वें सेमेस्टर की तैयारी कर रहे हैं. उनकी क्लासेस 17 फरवरी से ही शुरू हो गई है. सातवें सेमेस्टर के परिणाम भी जल्दी घोषित किये जाएंगे. ताकि यह छात्र 22 मई से ली जाने वाली आठवें सेमेस्टर की परीक्षा में शामिल हो सके. फिलहाल इंजीनियरिंग स्नातकोत्तर का परिणाम घोषित नहीं किया गया है.

प्रो-मार्क को ही विवि की जिम्मेदारी

शुक्रवार को विवि के प्रबंधन परिषद की बैठक आयोजित की गई. इसमें प्रो-मार्क कंपनी को ऑनलाइन सहित अन्य तकनीकी कामकाज की जिम्मेदारी सौंपने का निर्णय लिया गया. उल्लेखनीय है कि विवि द्वारा पिछले कुछ वर्षों से प्रो-मार्क कंपनी को ही जिम्मेदारी सौंपी गई है. लेकिन पिछली परीक्षा में अनेक तरह की तकनीकी खामियों की वजह से कंपनी बदलने की मांग उठने लगी थी लेकिन बैठक में एक बार फिर से प्रो-मार्क को काम दिये जाने पर मुहर लगाई गई.

विवि द्वारा परीक्षाओं की तैयारियां अंतिम दौर में पहुंच गई है. छात्रों को मोबाइल के साथ ही लैपटॉप और कम्प्यूटर पर परीक्षा देने की सुविधा दी गई है. परीक्षा के दौरान किसी भी तरह की तकनीकी दिक्कत न आये, इसके लिए भी विशेष ध्यान रखा जा रहा है. 

– प्रा. प्रफुल्ल साबले, संचालक परीक्षा मंडल व मूल्यमापन