NMC

  • प्रशिक्षण कार्यशाला में अति. आयुक्त ने जताई आशा

नागपुर. राज्य सरकार की ओर से हाल ही में एकीकृत विकास नियंत्रण व प्रोत्साहन नियमावली लागू की है. जिससे अब विकास कार्यों को गति और नई दिशा मिलने की आशा मनपा के अतिरिक्त आयुक्त जलज शर्मा ने जताई. गुरूवार को नगर रचना व मूल्य निर्धारण विभाग सहसंचालक, नगर रचना विभाग, मनपा, क्रेडाई और मेट्रो की ओर से सुरेश भट सभागृह में प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया. अति. आयुक्त राम जोशी, संजय निपाने, अविनाश पाटिल, नितिन अढारी, सुनील मरले, प्रमोद गावंडे, संजय सावजी, महेश साधवानी उपस्थित थे.

अलग-अलग नियमों से असमानता

शर्मा ने कहा कि अब तक राज्य में अलग-अलग विकास नियंत्रण नियमावली लागू थी. जिससे राज्य के नागरी क्षेत्रों में विकास में असमानता दिखाई दे रही थी. अलग-अलग नियम होने से डेवलपर्स को भी परेशानी होती थी. अब महाराष्ट्र के सभी क्षेत्रों के लिए एक ही नियमावली लाई गई है. नए नियमों के कारण राज्य में गृह निर्माण, व्यवसायिक विकास को गति मिल सकेगी. संजय सावजी ने कहा कि एकीकृत विकास नियंत्रण नियमावली लागू होने के बाद अब पहले के सभी नियमों को रद्द कर दिया गया है. नागपुर सहित कुछ शहरों के लिए अलग नियमों को भी शामिल किया गया है. नए नियमों में पार्किंग और अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों का समावेश किया गया है. 

महानगरों की आवश्यकता पर ध्यान

नगर रचना सहसंचालक अविनाश पाटिल ने कहा कि अब राज्य के बड़े शहरों में होनेवाले विकास में असमानता दिखाई नहीं देगी.एकीकृत नियमावली तैयार करते समय महानगरों की आवश्यकता को ध्यान में रखा गया है. क्रेडाई के अध्यक्ष साधवानी ने नई नियमावली से लोगों को लाभ होने तथा विकास की दिशा और गति बढ़ने की आशा जताई. संचालन संजय बारई ने किया.