NMC

  • अगस्त से कोरोना पाजिटिव में भयानक वृद्धि

नागपुर. शहर में कोरोना की टेस्टिंग बढ़ाए जाने को लेकर भले ही मनपा पीठ थपथपा रही हो, किंतु वास्तविकता यह है कि अगस्त माह से कोरोना पाजिटिव की संख्या में भारी वृद्धि पाई गई है. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जहां जुलाई माह में 44508 टेस्टिंग होने के बावजूद केवल 2401 कोरोना पाजिटिव पाए गए थे, वहीं अगस्त में 82112 के साथ टेस्टिंग तो दुगनी हो गई, लेकिन पाजिटिव का आंकड़ा उससे कहीं अधिक 22948 हो गया. जिससे शहर में कोरोना का दुष्प्रभाव रोकने में मनपा विफल होने का अनुमान लगाया जा रहा है. इसके विपरित मनपा का मानना है कि गत 7 माह में दुष्प्रभाव रोकने के लिए हरसंभव कदम उठाए गए. जिसे सफलता भी हासिल हो रही है. अगस्त माह की तुलना में सितंबर में 70,117 अधिक टेस्टिंग होने का दावा किया जा रहा है.

3,37,446 की हुई टेस्टिंग
आईसीएमआर के रेकार्ड के अनुसार शहर में मार्च से सितंबर माह तक 7 माह में कुल 3,37,446 टेस्टिंग किए गए हैं. विशेषत: इसमें से 1,52,229 टेस्टिंग केवल सितंबर माह में किए गए हैं. जबकि अबतक कोरोना पाजिटिव मरीजों की संख्या 62,342 तक पहुंच गई है. प्रशासन के अनुसार आयुक्त के रूप में राधाकृष्णन बी द्वारा जिम्मेदारी स्वीकार करने के बाद कोरोना पर नियंत्रण के लिए टेस्टिंग की संख्या बढ़ाने पर विशेष बल दिया गया है. यहीं कारण है कि कोरोना मरीजों के ठीक होने का औसत 86 प्रतिशत पर पहुंच गया है. वर्तमान में प्रतिदिन 5 हजार से अधिक टेस्टिंग किए जा रहे हैं. आईसीएमआर के रेकार्ड के अनुसार अगस्त माह में प्रतिदिन 2648 टेस्टिंग हुई है. जिसमें 22,948 लोग बाधित पाए गए. इस माह में टेस्टिंग सेंटर्स की संख्या भी काफी कम थी.

इस तरह बढ़ते गए आंकड़े

माह टेस्ट पाजिटिव

मार्च 918 16

अप्रैल 5986 121

मई 21,491 357

जून 30,202 750

जुलाई 44,508 2401

अगस्त 82,112 22,948

सितंबर 1,52,229 35,749