Janta curfew, Nagpur

  • पालकमंत्री और महापौर की बैठक में फैसला

नागपुर. कोरोना से निपटने के लिए हाल ही में जनता कर्फ्यू लगाए जाने के बाद से शहर में पुन: लॉकडाउन होने को लेकर दहशत का माहौल रहा. लेकिन शुक्रवार को पालकमंत्री नितिन राऊत की अध्यक्षता में विभागीय कार्यालय तथा दूसरी ओर महापौर संदीप जोशी की अध्यक्षता में मनपा मुख्यालय में लॉकडाउन को लेकर हुई बैठक के बाद अब पुन: लॉकडाउन नहीं लगाने का निर्णय लिया गया. एक ओर जहां पालकमंत्री राऊत ने लॉकडाउन के बदले स्मार्ट एक्शन प्लान तैयार करने के निर्देश दिए, वहीं महापौर जोशी की ओर से शहर की 12 मीटर की सड़कों पर दोनों ओर के दुकानदारों को व्यवसाय की अनुमति देने के निर्देश जारी किए गए.

मृतकों की संख्या कम करने पर दें जोर : राऊत
पालकमंत्री राऊत ने कहा कि जून की तुलना में जुलाई माह में कोरोना का संक्रमण काफी बढ़ा है. जिससे नियंत्रण के लिए स्मार्ट एक्शन प्लान तैयार किया जाना चाहिए. शहर और ग्रामीण में बढ़ी मृतकों की संख्या कम करने पर जोर देने के निर्देश भी दिए. उन्होंने कहा  कि यदि जनता स्वयं लॉकडाउन के नियमों का पालन करती है, तो कोरोना पर नियंत्रण पाया जा सकता है. बैठक में विभागीय आयुक्त संजीव कुमार, पुलिस आयुक्त भूषणकुमार उपाध्याय, मनपा आयुक्त तुकाराम मुंढे, जिलाधिकारी रवीन्द्र ठाकरे, स्वास्थ्य उपसंचालक डॉ संजय जायसवाल, मेडिकल के डीन डॉ सजल मित्रा, देवेन्द्र पातुरकर, दीपक सेलोकर आदि उपस्थित थे. चर्चा के दौरान मित्रा ने कहा कि लगातार बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए अतिरिक्त कर्मचारियों की आवश्यकता है. विशेषत: चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी और सफाई कर्मचारियों की भारी किल्लत है. जिसके बाद पालकमंत्री ने संक्रमण काल के लिए निजी एजेन्सी के माध्यम से कर्मचारी उपलब्ध कराने के निर्देश प्रशासन को दिए. 

मेडिकल में करें एन्टीजेन टेस्ट
राऊत ने कहा कि मेडिकल में आनेवाले प्रत्येक मरीज का एन्टीजेन टेस्ट कराना चाहिए. कोरोना की इस लढ़ाई में कुछ स्वयंसेवी संस्थाएं प्रशासन के साथ काम करने की इच्छुक हैं. फूड सोल्जर, कॉल सेंटर, पैरामेडिकल, और हेल्प डेस्क के रूप में काम करने के लिए स्वयं सेवी संस्थाओं की ओर से प्रारूप पेश किया गया. जनजागृति के लिए आंगनवाडी सेविीका और मददनीस का सहयोग लेने पर भी चर्चा की गई. इसी दौरान  विदर्भ इंडस्ट्रीज एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ भी चर्चा की गई. जिसमें उद्योग और व्यवसाय को गति देने और नियमों का पालन करने के निर्देश दिए. 

सड़कों के दोनों ओर शुरू करें दुकानें : महापौर
लाकडाऊन के चलते जनता पहले ही परेशान हो चुकी है. पुन: लॉकडाउन के पक्ष में जनता नहीं है. यहां तक कि जन प्रतिनिधियों की ओर से भी विरोध जताया गया है. यदि जबरन पुनः लॉकडाउन किया गया, तो इसके खिलाफ सड़कों पर उतरने की चेतावनी उन्होंने दी. मनपा मुख्यालय में हुई बैठक में उन्होंने कहा कि मिशन ‘बिगिन अगेन’ अंतर्गत सम-विषम तारीखों के नियमों के अनुसार दुकानों को शुरू करने की स्वतंत्रता दी गई है. लेकिन अब 12 मीटर से अधिक की सड़कों पर प्रतिदिन दुकानों को शुरू रखने के निर्देश भी उन्होंने दिए. यहां तक कि 9 मीटर की सड़कों पर ही सम-विषम का नियम लागू रखने की हिदायत भी दी. बैठक में सांसद कृपाल तुमाने, विकास महात्मे, अनिल सोले, नागो गाणार, गिरीश व्यास, कृष्णा खोपडे, विकास कुम्भारे, मोहन मते, दयाशंकर तिवारी आदि उपस्थित थे. चर्चा के दौरान तमाम जन प्रतिनिधियों की ओर से दिए गए सुझावों के बाद महापौर ने पुन: सभी विषयों पर 7 अगस्त को चर्चा होने की जानकारी दी.