Fast tag mandatory on toll plaza from 15 February

    नागपुर. राज्य के अब किसी भी टोल नाके में बिना फास्टैग के भी आप नाका क्रॉस कर सकेंगे. एमएसआरडीसी के अंतर्गत आने वाले सभी टोल नाकों पर एक लाइन बिना फास्टैग वाले वाहनों की भी होगी जिनकी गाड़ी पर फास्टैग नहीं होगा वे कैश देकर भी टोल क्रॉस कर सकेंगे. जनता फाउंडेशन के काजी जिशान सिद्दीकी ने बताया कि उन्होंने इस व्यवस्था को लागू करने के लिए कलेक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर लोगों की समस्याओं से अवगत कराया था.

    जिशान की मांग पर गंभीरता से विचार करने के बाद राज्य सरकार ने आखिरकार एमएसआरडीसी के अंतर्गत आने वाले सभी टोल नाकों पर एक लाइन कैश वालों के लिए भी शुरू करने का फैसला किया है. एमएसआरडीसी के मुख्य महाव्यवस्थापक ने जिशान को पत्र भेजकर इसकी जानकारी दी. जिशान ने कहा कि अब इस व्यवस्था को पूरे देश में लागू कराने के लिए प्रयास किया जाएगा, ताकि टोल नाके पर लोगों को परेशानियों का सामना न करना पड़े. 

    बिना फास्टैग वालों को हो रही थी परेशानी

    15 फरवरी से हर टोल पर फास्टैग अनिवार्य कर दिया गया था लेकिन जिन वाहनों में फास्टैग नहीं था उन्हें नाके पर घंटों इंतजार करना पड़ रहा था. बताया कि इस नियम से आम जनता को सबसे ज्यादा परेशानी हो रही थी. अशिक्षित, गरीब तबके के ड्राइवर और जो ऑनलाइन ट्रांजेक्शन की जानकारी नहीं रखते हैं, ऐसे लोगों को खास परेशानी हो रही थी.

    उन्होंने इन सभी समस्याओं को कलेक्टर के माध्यम से पीएम, सीएम और केंद्रीय मंत्री तक पहुंचाया जिसके बाद राज्य के टोल नाकों पर अब एक काउंटर कैश का भी होगा. उन्होंने इस फैसले के लिए सभी का आभार माना. इस दौरान फाउंडेशन के जुबैर अहमद, शाहरुख खान, यूसुफ मिर्जा, मोहसीन खान, अरशद, पीयूष गेडाम, विकास कुंजाम, मयूर कोवे समेत अन्य मौजूद रहे.