File Photo
File Photo

  • ग्रामीण में टेस्टिंग बढ़ाने की जरुरत

नागपुर. सितंबर की तुलना में अब कोरोना के मरीजों की संख्या कम हो रही है. मरने वालों के साथ ही पाजिटिव भी कम मिल रहे हैं. वहीं दूसरी ओर प्रशासन द्वारा एंटिजन टेस्ट पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है. मंगलवार को कुल 6774 लोगों की टेस्ट की गई. इसमें 4402 एंटिजन टेस्ट का समावेश रहा. इस बीच 20 मरीजों की मौत हो गई. इसके साथ ही अब जिले में मरने वालों की संख्या 2840 तक पहुंच गई है.

मंगलवार को ग्रामीण के 5 और सिटी के 7 मरीजों की मौत हुई. जबकि 8 मरीज जिले से बाहर के रहे. इस तरह कुल 20 मरीजों की मौत हो गई. वहीं 660 लोगों में संक्रमक की पुष्टि हुई है. इनमें 220 ग्रामीण और 432 ग्रामीण के रहे. अब तक जिले में 18407 लोग पाजिटिव हो चुके है. इसके बावजूद ग्रामीण भागों में टेस्टिंग की गति धीमी बनी हुई है. सिटी में 386754 और ग्रामीण 143358 सहित कुल 530112 लोगों की टेस्ट की जा चुकी है. सिटी की तुलना में ग्रामीण में टेस्टिंग बढ़ाने की आवश्यकता है. 

अधिकांश मरीज होम आयसोलेशन में 

फिलहाल जिले में कुल 7579 एक्टिव केस है. इनमें आधे से अधिक मरीज होम आयसोलेशन में उपचार ले रहे हैं. मंगलवार को 933 मरीजो को ठीक होने के बाद छुट्टी दी गई. इस तरह अब तक जिले में 77471 लोग कोरोना से ठीक होकर अपने काम पर लौट चुके हैं. इनमें सिटी के 61691 और ग्रामीण के 15780 मरीजों का समावेश है. यही वजह है कि रिकवरी रेट बढ़कर 88.15 फीसदी तक पहुंच गया है. माना जा रहा है कि अगला महीना त्योहारों का होना से एक बार फिर महामारी जोर पकड़ सकती है. यही वजह है कि डाक्टरों सहित प्रशासन ने लोगों को सावधानी बरतने और लक्षण दिखाई देने पर तुरंत जांच कराने की सलाह दी हैं. बीमारी को लेकर किसी भी तरह लापरवाही खतरनाक हो सकती है. 

87890 कुल संक्रमित 

77471 हुये ठीक 

2840 की मौत 

660 मंगलवार को पाजिटिव 

7579 एक्टिव केस