Vaccination Updates: The government has fixed the date for vaccination of the entire population of 18 to 44 years in Goa, CM Pramod Sawant said – target has been set till July 30
Representative Image

  • 94 सेंटर्स पर चल रहा टीकाकरण

नागपुर. कोरोना संक्रमण की घातकता से बचने के उपायों में वैक्सीन को कुछ हद तक कारगर माना जा रहा है. स्वास्थ्य सेवक और फ्रंट लाइन वर्कर्स के बाद 1 मार्च से केंद्र सरकार के निर्देशों के अनुसार 60 प्लस और 45 प्लस कोमार्बिड युवकों को कोरोना का टीका लगाना शुरू किया गया. वैक्सीनेशन अभियान की योजना दोषपूर्ण होने के कारण ही वर्तमान में भी वैक्सीनेशन की केवल खानापूर्ति होने की जानकारी है.

सूत्रों के अनुसार केंद्र सरकार की ओर से अब दूसरा डोज लेने के लिए भले ही 12 सप्ताह की शर्त जारी की हो, लेकिन शहर में चल रहे वैक्सीनेशन में अभी भी दूसरा डोज उपलब्ध कराया जा रहा है. न केवल स्वास्थ्य सेवक और फ्रंट लाइन वर्कर बल्कि 45 से अधिक उम्र के सभी को दूसरा डोज प्रतिदिन दिया जा रहा है. इसके लिए क्या नियम निर्धारित किए जा रहे है, इसका जानकारी मनपा की ओर से जारी नहीं की गई है. किंतु कुछ वरिष्ठ पार्षदों के क्षेत्र में इस तरह की कार्यप्रणाली अपनाई जा रही है.

ताक पर नियम

केंद्र सरकार की ओर से भले ही नियम निर्धारित किए गए हो लेकिन इसके विपरीत मनपा की ओर से रविवार को कुल 94 वैक्सीनेशन सेंटर्स में से कुछ सेंटर्स पर दूसरा डोज उपलब्ध कराया गया. जिसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि 20 स्वास्थ्य सेवक, 58 फ्रंट लाइन वर्कर, 45 प्लस की कैटेगिरी में 99, 45 प्लस कोमोरबिड में 84 और 60 प्लस में 73 लोगों को रविवार को दूसरा डोज लगाया गया. कुल 334 लोगों को वैक्सीन लगाई गई. मनपा की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार राज्य सरकार की ओर से 45 प्लस के लिए पहला और दूसरा डोज देने के लिए वैक्सीन उपलब्ध कराई गई है. इसके अलावा ‘वैक्सीन आपके परिसर में’ अभियान के लिए कोविशील्ड वैक्सीन उपलब्ध कराई गई है. मनपा की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार 45 प्लस को वैक्सीन देने का अभियान सोमवार को भी जारी रहेगा.

ड्राइव इन वैक्सीनेशन को प्रतिसाद नहीं

मनपा की ओर से उजागर की गई जानकारी के अनुसार रविवार को शहर के 2 माल में ड्राइव इन वैक्सीनेशन का अभियान भी जारी रखा गया था. जहां 45 प्लस को भी वैक्सीनेशन देने की प्रक्रिया चलाई गई. किंतु ड्राइव इन वैक्सीनेशन को प्रतिसाद नहीं मिलने का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि जहां ट्रीलियम मॉल में केवल 33 लोगों ने टीका लगाया, वहीं ग्लोकल मॉल में मात्र 9 लोगों ने ही ड्राइव इन अभियान में आकर वैक्सीन लगाई है. कुछ जोन के वैक्सीनेशन सेंटर्स पर तो रविवार होने के बावजूद वैक्सीन लेने कोई नहीं पहुंचा. जबकि सिटी में सर्वाधिक दटके महल रोग निदान केंद्र पर को-वैक्सीन के 210 टीके लगाए गए. सोमवार को भी मेडिकल अस्पताल, आसीनगर जोन में डॉ. बाबासाहब आम्बेडकर अस्पताल अंतर्गत सिद्धार्थनगर स्थित बैरि. राजाभाऊ खोबरागड़े सभागृह और महल रोग निदान केंद्र में कोवैक्सीन का दूसरा डोज दिया जाएगा.