Mayo Hospital

  • कोरोना पर नियंत्रण में सफलता

नागपुर. सिटी में कोरोना कहर भले ही कम नहीं हो रहा हो लेकिन जो भी उपचार के लिए भर्ती हो रहे हैं उनमें स्वस्थ होकर कुशलपूर्वक घर लौटने वालों की संख्या उत्साहवर्धक है. सिटी में अब तक कुल 1385 पाजिटिव पाये गए हैं जिनमें से 1000 से भी अधिक लोग स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं.

गुरुवार को भी 43 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौटे जिन्हें मिलाकर कुल संख्या 1016 हो गई है. वहीं रोज ही नये-नये इलाकों में संक्रमित मिलने से चिंता भी बढ़ती जा रही है. यह कहने में कोई समर्थ नहीं है कि सिटी में कोरोना की चेन कब टूटेगी. अब तो लाकडाउन में छूट के चलते लोगों में इसका भय खत्म सा हो गया है. हर जगह भीड़ नजर आती है जहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है. कई लोग तो मास्क तक नहीं लगा हैं. ऐसा ही चलता रहा तो चेन को तोड़ने में कब कामयाबी मिलेगी कहना मुश्किल है.

कोरंटाइन की संख्या घटी
गुरुवार को 108 और संशयित मरीज सिटी में मिले वहीं कोरंटाइन सेंटरों से 34 को उपचार के लिए मेयो, मेडिकल व एम्स हास्पिटल में भेजा गया. कोरंटाइन सेंटरों से रिपोर्ट निगेटिव आने पर 284 लोगों को उनके घर भेजा गया जिसके चलते कोरंटाइन की संख्या अब काफी घट गई है. गुरुवार को 1883 लोग कोरंटाइन में थे जबकि घरों में कोरंटाइन की संख्या 326 थी. 

353 अस्पताल में भर्ती
फिलहाल सिटी के मेयो, मेडिकल, एम्स आदि अस्पतालों में कुल 353 पाजिटिव का इलाज चल रहा है. इसमें मेडिकल में 164, मेयो में 130, एम्स में 50 और कामटी में 9 का समावेश है. अब तक सिटी में कुल 23053 स्वैब की जांच की जा चुकी है. डाक्टरों में इस बात को लेकर राहत है कि कोविड-19 से मरने वालों की संख्या नगण्य है. अब तक 21 मौतें हुई हैं जिनमें अधिकतर अधिक उम्र के हैं जिन्हें दूसरी तरह के स्वास्थ की समस्या थी. 

सिटी में आज तक की स्थिति

1385 कुल संक्रमित

08 गुरुवार को पाजिटिव

21 की अब तक मौत

1016 को मिली छुट्टी

326 होम कोरंटाइन

1883 हुए कोरंटाइन