Oxygen plant to be built in JNPT
File Photo

    नागपुर. कोरोना की दूसरी लहर ने शहर में जमकर कोहराम मचाया. मध्य रेल और दक्षिण-पूर्व-मध्य के नागपुर मंडलों के भी कई अधिकारी, कर्मचारी और उनके परिजन इस जानेलवा वायरस से संक्रमित होने से बीमार हुए और कईयों को अपनी जान भी गंवानी पड़ी. ऐसे में भविष्य की तैयारियों को ध्यान में रखते हुए रेलवे हॉस्पिटल में ऑक्सीजन प्लांट लगाया जायेगा. ताकि कोरोना संक्रमित होने के बाद आकस्मिक स्थिति में रेलकर्मियों और उनके परिजनों को ऑक्सीजन के लिए परेशान न होना पड़े. मिली जानकारी के अनुसार अगले डेढ़ महीने में रेलवे हॉस्पिटल को उक्त ऑक्सीजन प्लांट मिल जायेगा. इस प्लांट की कुल लागत करीब 2 करोड़ रुपये आंकी गई है. इसके लिए महाप्रबंधक की ओर से हरी झंडी मिल चुकी है.

    हर दिन 100 सिलिंडरों की क्षमता

    डीआरएम ऑफिस परिसर में स्थित हॉस्पिटल में दोनों मंडलों के रेलकर्मियों के लिए स्पेशल कोरोना वार्ड बनाया गया है. आकस्मिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए किसी भी मरीज को ऑक्सीजन की कमी न हो, इस बात का पूरा ध्यान रखा जायेगा. उक्त प्लांट से प्रति दिन 90 से 100 सिलिंडर ऑक्सीजन प्राप्त की जा सकेगी. उल्लेखनीय है कि रेलवे ने देशभर में 52 रेलवे हॉस्पिटलों में ऑक्सीजन प्लांट की योजना को मंजूरी दी है. इनमें से 30 प्रोजेक्ट के लिए प्रक्रिया शुरू हो चुकी है जिसमे नागपुर रेलवे हॉस्पिटल का भी नाम शामिल हैं. फिलहाल भुसावल में ऑक्सीजन प्लांट का काम शुरू हो चुका है.

    जल्द ही होगी निविदा

    एसीएम एसजी राव ने अधिक जानकारी देते हुए बताया कि डीआरएम ऑफिस कैम्पस स्थित रेलवे हॉस्पिटल में ऑक्सीजन प्लांट प्रोजेक्ट के लिए जगह निश्चित करके प्रस्ताव भेज दिया गया है. इस प्रोजेक्ट की क्षमता हर दिन 90 से 100 सिलिंडर ऑक्सीजन उत्पादन की होगी. जल्द ही इस प्रोजेक्ट के लिए निविदा जारी कर दी जायेगी. उम्मीद है कि अगले डेढ़ महीने के भीतर यह प्लांट स्थापित कर शुरू कर दिया जायेगा.