Pardi Flyover, Pardi Road, Nagpur

    नागपुर. सिटी में प्रकल्पों की लेटलतीफी में पारडी ब्रिज नया रिकॉर्ड बना रहा है. 7 वर्ष पूर्व इस ब्रिज का भूमिपूजन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केपी ग्राउंड में हुए कार्यक्रम में किया था. उस समय नागरिकों को पक्की आशा थी कि हमेशा यहां के प्रकल्पों को जानबूझकर लेटलतीफ करने वाले अधिकारी इस ब्रिज को पीएम का नाम जुड़ने के कारण समय पर पूरा कर देंगे. लेकिन यहां के अधिकारियों को प्रधानमंत्री के नाम की भी चिंता नहीं है. सिटी का यह प्रकल्प अब पारडी पुल नहीं बल्कि ‘लेटलतीफ पुल’ के नाम से पहचान बनाने लगा है. कई अड़चनों के बाद ले-देकर कार्य शुरू हुआ था लेकिन फिर गति मंद पड़ गई है.

    पूर्व नागपुर के भाजपा विधायक कृष्णा खोपड़े ने तो नेशनल हाईवे के क्षेत्रीय अधिकारी को पत्र लिखकर नाराजी जताई है और साथ ही मांग की है कि पारडी पुल को जल्द से जल्द पूरा करें. उन्होंने बताया कि केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी की फटकार के बाद विभाग ने मार्च 2021 तक ब्रिज को पूरा करने की बात कही थी लेकिन बाद में उसे बढ़ाकर दिसंबर 2021 कर दिया गया. खोपड़े ने कहा कि अब दिए गए समय तक ब्रिज का कार्य जरूर पूरा करें.

    बारिश में जानलेवा

    पारडी ब्रिज की लेटलतीफी से न केवल नागरिकों को आवाजाही में परेशानी हो रही है बल्कि ब्रिज के नीचे सड़कों की खस्ता हालत के कारण यह जानलेवा बन गई है. कई दुर्घटनाएं हो चुकी हैं. अब तो बारिश आ गई है. बारिश का पानी यहां जमा हो रहा है जो जानलेवा साबित हो सकता है. खोपड़े ने क्षेत्रीय अधिकारी से मांग की है कि दिए गए समय पर ही ब्रिज का कार्य पूरा करें. बारिश में परिसर के नागरिकों और इस रोड से गुजरने वालों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है.