There was chaos in the intersections - vehicles increased, signal closed

नागपुर. शहर के ज्यादातर प्रमुख चौराहों पर इन दिनों वाहन चालकों को गड्ढों का सामना करना पड़ रहा है. व्यस्त इलाकों के चौराहों पर हर किसी को निकलने की जल्दी होती है लेकिन गड्ढों के कारण वाहनों की गति अवरुद्ध हो रही है. चौराहों पर वसूली के लिए पुलिस तो खड़ी है लेकिन गड्ढों की समस्या हल करने के लिए कोई आगे नहीं आ रहा है. इन दिनों शहर के प्रमुख और ऐतिहासिक चौराहों के तो बड़े बुरे हाल हैं. ऐतिहासिक गोलीबार चौक के शहीद स्मारक का कुछ ही दिन पहले सौंदर्यीकरण किया गया है. लेकिन इसके आसपास से जुड़ने वाले रास्ते नहीं सुधारे गए. इसलिए आज सब तरह इसमें गड्ढे की गड्ढे हैं.

  • महल के गांधीगेट पर छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा और स्मारक का सौंदर्यीकरण किया गया लेकिन तिलक पुतला, चिटणवीस पार्क, महल कोतवाली की ओर से आकर मिलने वाले मार्गों की ओर बड़े-बड़े गड्ढे बने हुए हैं. कई साल बीत चुके लेकिन इस मार्ग पर सुधार का नामोनिशान नहीं है.
  •  
  • कमाल चौक पर इंदोरा, वैशाली नगर और लष्करीबाग की ओर से आकर मिलने वाले रास्ते भले ही सीमेंट के हैं लेकिन चौराहे का धरातल पूरी तरह उखड़ा हुआ है. खासकर पांचपावली की ओर जाने वाला मार्ग पूरी तरह उधड़ा हुआ है.
  • गोलीबार चौक से निकलने वाला मार्ग इतवारी स्टेशन चौक पर आकर मिलता है. यहां पर कई सालों से बुरे हाल हैं. इतना बड़ा चौराहा होने से यहां पर नागरिकों का आवागमन और कारोबारी गतिविधियां दोनों बहुत तेज गति से चलती हैं लेकिन चौराहे ने बाजार की शक्ल बिगाड़ रखी है. यहां से गोलीबार चौक की ओर जाने वाले पूर्व मार्ग में जगह-जगह गड्ढे पड़े हुए हैं.
  • धरमपेठ में वेस्ट हाईकोर्ट रोड पर लक्ष्मीभुवन चौक के हालत लगता है कभी नहीं सुधरने वाली है. यहां पर गोकुलपेठ की ओर से आने वाले मार्ग की हालत कभी खराब है. चौराहे पर से वाहनों को निकलने में परेशानी होती है.
  • शहर में व्यस्ततम चौराहों में से एक कॉटन मार्केट चौक का भी बुरा हाल है. मेट्रो का काम चलने के कारण यहां पर सुधार नहीं हो पा रहा है. 
  • गड्डी गोदाम चौक पर सबसे बुरे हाल हैं. आजकल यहां पर रेलवे पुलिया पर मेट्रो का काम चल रहा है जिसके कारण पूरा गड्डीगोदाम इलाका अस्तव्यस्त है. लेकिन जो जगह यहां से निकलने के लिए बनाई गई है वह भी ठीक नहीं है.
  • कड़बी चौक पर सदर और छावनी की ओर से आने-जाने वाले मार्ग पर गड्ढे ही गड्ढे नजर आ रहे हैं. यहां सबसे खतरनाक हालात में सदर की ओर जाने वाला रेलवे ओवरब्रिज है. 

कई चौराहों की गिनती नहीं

शहर के बड़े चौराहों के अलावा कई छोटे चौक चौराहों की भी बुरी स्थिति है जिनकी गिनती नहीं की जा सकती. इनमें काटोल रोड, बोरगांव, पूर्व वर्धमान नगर के कई चौराहे, पुराना भंडारा रोड के कई चौराहे, स्मॉल फैक्ट्री एरिया, दक्षिण में जयताला रोड के प्रमुख चौराहे, सोनेगांव इलाके के कई प्रमुख चौक आदि शामिल हैं.