File Photo
File Photo

  • सरकार ने सुनी मांग
  • ठाकरे के प्रयास लाये रंग

नागपुर. राज्य के गृहमंत्री अनिल देशमुख द्वारा पुलिस विभाग में 12,528 सिपाही पदों की भर्ती की घोषणा ने कोरोना काल में बेरोजगारों को राहत दी. पश्चिम नागपुर के विधायक विकास ठाकरे द्वारा इस बारे में निरंतर प्रयास किये जा रहे थे और उन्होंने युवाओं की ओर से सरकार के समक्ष यह मांग रखी थी.

ज्ञात हो कि 6 सितंबर को पुलिस परीक्षार्थियों का एक शिष्टमंडल मुंबई में विधायक विकास ठाकरे से मिला था और राज्य सरकार के इस वादे में बारे में जानकारी दी. साथ ही कोरोना काल में लटक रही लंबी बेरोजगारी को लेकर अपनी व्यथा बताई. युवाओं की बात सुनने के बाद विकास टाकरे ने उचित प्रयास का आश्वासन दिया था. इस बाबत उन्होंने बार-बार सरकार के समक्ष उक्त भर्ती का मुद्दा उठाया और सफल हुए.

जल्द शुरू होगी प्रक्रिया
गृहमंत्री अनिल देशमुख के अनुसार, उक्त 12,528 पदों की भर्ती के लिए जल्द ही प्रक्रिया शुरु होगी. मिली जानकारी के अनुसार, सरकार का प्रयास है कि दिसंबर के अंत यह प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी. बकौल देशमुख, कोरोना संकट में पुलिस की भूमिका बहुत अच्छी रही है. राज्य में कानून-व्यवस्था संभालने के लिए पुलिस के रिक्त पदों को भरने की जरुरत है. इसलिए सिपाही के 100 फीसदी पद भरे जाएंगे.

वर्ष 2019 में सिपाही के रिक्त 5297 पद और 2020 में सेनानिवृत, पदोन्नत, इस्तीफे से रिक्त हुए पुलिस सिपाही, पुलिस सिपाही चालक, सशस्त्र पुलिस सिपाही के 6726 पदों के अलावा मीरा-भायंदर, वसई-विरार पुलिस आयुक्तालय के लिए सृजित 975 पदों सहित कुल 12,538 पदों के लिए भर्ती होगी.