Action: First stabbed with poles, then stabbed knife

नागपुर. मकान मालक और किरायेदार के बीच चल रहे विवाद में अंबाझरी थाने में फिरौती का मामला दर्ज किया गया है. आरोपियों में मैजेस्ट्रिक हाईट अपार्टमेंट निवासी लालचंद विरभान मोटवानी (32), गोड़खैरी निवासी राकेश रंजन (35) और एक होटल व्यवसायी का नाम शामिल है. पुलिस द्वारा दर्ज की गई एफआईआर के अनुसार लेंड्रा पार्क रामदासपेठ निवासी व फरियादी पंकज प्रफुलकुमार भंसाली (48) का गांधीनगर, सुकराम अपार्टमेंट में एक फ्लैट है.

फरियादी ने बताया कि 4 अप्रैल 2020 से 11 सितंबर के दौरान सभी आरोपियों ने एक साथ मिलकर जबरन दरवाजे का ताला तोड़कर फ्लैट पर कब्जा किया और फ्लैट खाली करने के लिए 80 लाख की फिरौती मांगी. आरोपी लालचंद और भंसाली के बीच काफी समय से फ्लैट को लेकर विवाद चल रहा है.

पुलिस ने पहले आरोपी लालचंद की शिकायत पर फरियादी पंकज के खिलाफ फ्लैट पर अवैध रूप से कब्जा करने के मामले में ट्रेस पासिंग और लॉकडाउन के उल्लंघन का मामला दर्ज किया था. अब उसी फ्लैट पर कब्जा जमाने का मामला लालचंद पर दर्ज किया गया है. एक ही फ्लैट को लेकर पुलिस दोनों पक्षों पर अवैध कब्जा जमाने का मामला कैसे दर्ज कर सकती है यह समझ से परे है. पता यह भी चला है की उसी दिन पुलिस ने फ्लैट से 19 बोतल महंगी शराब जब्त की थी और लालचंद के खिलाफ शराब बंदी कानून के तहत मामल दर्ज किया था. इसका मतलब है कि फ्लैट पर लालचंद का कब्जा था.

इस पूरे प्रकरण को लेकर पुलिस अपनी धाराओं में घिरती हुई दिख रही है. अपना हित साधने के लिए पुलिस को गूमराह किया जा रहा है. इस मामले में होटल व्यवसायी को भी जबरन लपेटने का प्रयास किया जा रहा है. इस मामले को लेकर पूलिस को गुमराह किये जाने का प्रयास किया जा रहा है. वहीं कहीं न कहीं इसे लेकर पुलिस पर दबाव डालने की भी चर्चा है.