uday-samant

  • 12वीं उत्तीर्ण छात्रों को सीधे सेकंड ईयर में प्रवेश

नागपुर. अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) ने अभियांत्रिकी शिक्षा मराठी सहित 8 प्रादेशिक भाषाओं में करने की मंजूरी दी है. इस वर्ष से पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रम में मराठी भाषा में अध्ययन का पर्याय पहली बार उपलब्ध कराया जा रहा है. इससे छात्रों को अपनी स्थानीय भाषा में शिक्षा हासिल करने का अवसर मिल सकेगा.

इस संबंध में उच्च व तकनीकी शिक्षा मंत्री उदय सामंत ने आदेश जारी किये है. शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए सीधे द्वितीय वर्ष अभियांत्रिकी डिप्लोमा पाठ्यक्रम के प्रवेश के लिए पात्रता में बदलाव किया गया है. निश्चित किये गये विषयों में से किसी भी तीन विषय लेकर 12वीं उत्तीर्ण करने वाले छात्रों को सीधे सेकंड ईयर में प्रवेश मिल सकेगा.

12वीं में भौतिकशास्त्र, गणित, रसायनशास्त्र, कम्प्यूटर साइंस, इलेक्ट्रॉनिक्स, इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, जीवशास्त्र, इनफॉर्मेटिक्स प्रैक्टिस, बायोटेक्नॉलॉजी, टेक्निकल वोकेशनल सब्जेक्ट, एग्रीकल्चर, अभियांत्रिकी ग्राफिक्स, बिजनेस स्टडीज, एटरप्रीनरशिप इन विषयों में किसी भी तीन विषयों में 12वीं उत्तीर्ण होना आवश्यक है.

फिलहाल राज्य में बोर्ड परीक्षाओं का परिणाम तैयार करने के लिए 10वीं व 12वीं के छात्रों का मूल्यमापन किया जा रहा है. इसी मूल्यमापन के आधार पर अंकसूची व प्रमाणपत्र तैयार किये जाएंगे. यही वजह है कि पॉलिटेक्निक प्रवेश में भी 10वीं व 12वीं के अंकों पर विचार किया जाएगा.