Manikgarh railway ticket counter flying social distancing
File Photo

  • जोन कार्यालयों को बोर्ड का आदेश, काउंटर खोलो

नागपुर. कोरोना महामारी से उबरने के लिए अब रेलवे ने अपनी तैयारी तेज कर दी है. इसी के तहत लगातार हर दिन धीरे-धीरे पूरे देश में कई ट्रेनें शुरू की जा रही हैं. हालांकि इन ट्रेनों में केवल कन्फर्म टिकटधारी यात्री ही सवार हो पा रहे हैं, जबकि जनरल क्लास को सेकंड क्लास में बदल दिया गया है. मिली जानकारी के अनुसार, स्टेशनों पर जल्द ही जनरल टिकटों की बिक्री शुरू होगी. रेलवे बोर्ड ने सभी जोन के महाप्रबंधकों को अनारक्षित टिकट काउंटर खोलने की तैयारी शुरू करने के आदेश दे दिए हैं.

कम दूरी के यात्रियों को मिलेगी राहत

इसमें कोई दोराय नहीं कि रेलवे बोर्ड के इस निर्णय से रेल यात्रियों के एक बड़े वर्ग को बड़ी राहत मिलेगी. इनमें कम दूरी तक बिना आरक्षण के सफर करने वाले लोग शामिल हैं. उल्लेखनीय है कि लॉकडाउन की समाप्ति प्रकिया यानि अनलॉक-1 के बाद से शुरू यात्री ट्रेनों में केवल आरक्षित टिकट की शर्त के तहत ही यात्री सफर कर पा रहे हैं. इस कारण आसपास की दूरी की यात्रा करने वाले लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा था. बोर्ड ने अपने आदेश में कहा है कि जनरल टिकट काउंटरों के साथ ही स्टेशन पर लगे यूटीएस, एटीवीएम आदि सिस्टमों को भी चालू करें. इन सिस्टमों को चालू करने से यात्रियों को टिकट विंडों के साथ अन्य माध्यमों से भी रेलवे के टिकट मिल सकेंगे. 

पैसेंजर ट्रेनों का रास्ता भी साफ

बोर्ड के इस आदेश के बाद पैसेंजर ट्रेनों के शुरू होने की संभावनाओं को बल मिला है क्योंकि इन ट्रेनों के बंद होने से बड़ी संख्या में लोगों को परेशानी और आर्थिक नुकसान हो रहा है. दूसरी तरफ रेलवे की आय पर भी असर दिख रहा है. रेलवे को लंबी दूरियों के मुकाबले छोटी दूरियों का सफर करने वाले यात्रियों से अधिक राजस्व प्राप्त होता रहा है. पूरे देश में सैकड़ों पैसेंजर ट्रेनें अब भी बंद हैं जो गांवों, कस्बों, छोटे शहरों को महानगरों से जोड़ती थीं. इनके बंद से होने से देश की आर्थिक और विकासशील प्रक्रिया को भी नुकसान पहुंच रहा है. ऐसे में बोर्ड के जनरल टिकट काउंटर शुरू करने के आदेश को एक बार फिर रेलवे को सामान्य स्थिति में पहुंचाने की तैयारी के रूप में देखा जा रहा है.