Crime

    नागपुर. जिले में क्राइम का ग्राफ पिछले 5 महीने में बढ़ता ही जा रहा है. एक तरफ जहां पिछले साल भी अपराधों की संख्या में कोई कमी नहीं देखी गई थी, वहीं दूसरी और इस साल भी जिस तरह तेजी से थानों में अपराध दर्ज हो रहे हैं इससे ये अनुमान लगाया जा सकता है कि 2021 में पिछले साल की तुलना में अपराध का ग्राफ बढ़ गया है. 1 जनवरी से 31 मई तक 5 महीनों में ही दुष्कर्म के कुल 93 मामले दर्ज हो चुके हैं. वहीं पिछले पूरे एक साल में दुष्कर्म के 172 मामले ही दर्ज हुए थे.

    वहीं इसके अलावा 2021 मई तक हत्या के मामलों में भी तेजी देखी जा रही है. 2020 में कुल 97 हत्याएं हुई थीं जिनकी जांच विभिन्न थानों में अभी भी चल रही है. लेकिन 2021 के इन 5 महीनों में ही अब तक 41 हत्याएं हो चुकी हैं. वहीं आत्महत्या के मामलों में अभी कमी देखी जा रही है. 5 महीनों में अब तक 6 ही सुसाइड हुए हैं लेकिन इसके अलावा अन्य क्राइम सिटी में तेजी से बढ़ रहे हैं.

    डेढ़ साल की रिपोर्ट से खुलासा

    सूचना के अधिकार के तहत अभय कोलारकर ने जिले में हो रहे अपराधों की जानकारी पुलिस विभाग से मांगी थी जिसमें पिछले साल के अपराध और जनवरी से लेकर 31 मई तक विभिन्न थानों में दर्ज अपराधों की जानकारी पर यह खुलासा हुआ है. जिले की पुलिस इन सभी मामलों को सुलझाने का प्रयास कर रही है. 5 महीनों में अब तक पुलिस ने विभिन्न अपराधों में से 1,033 अपराधों की गुत्थी सुलझा थी. केस सॉल्व होने का आंकड़ा भी पिछले साल की तुलना में सुधरा है.    

    आंकड़ों में क्राइम रेट 

    अपराध 2020 2021 (1 जनवरी से 31 मई)

    दुष्कर्म 172 93

    आत्महत्या 22 06

    हत्या 97 41

    चोरी 2,066 990

    डकैती 11 05

    चेन स्नेचिंग 24 11

    गंभीर अपराध 4,544 2,107

    कोर्ट में बढ़ती जा रही पेंडेंसी

    इधर जिले में होने वाले अपराध कोर्ट में लंबे समय से पेंडिंग भी है. सूचना के अधिकार के तहत मिली जानकारी के आधार पर 2020 में कुल 94.331 मामले अब तक कोर्ट में पेंडिंग है तो वहीं 2021 में 5 महीनों में इसकी संख्या पिछले एक साल की तुलना में ही बढ़ गई है. पिछले साल 12 महीनों में जहां कोर्ट में 94,331 मामले कोर्ट में पेंडिंग थे. वहीं 2021 के इन 5 महीनों में ही 94,718 मामले पेंडिंग हो चुके हैं. पुलिस ने पिछले साल 2,778 केस को सुलझा लिया था तो वहीं इस साल अब तक पुलिस ने 1,033 मामलों का निपटारा कर दिया है.