Balya Binekar Murder, Kishor Binekar Murder, Nagpur

  • दिलदहला देने वाली घटना

नागपुर. भोले पेट्रोप पंप चौराहे पर दिनदहाड़े हुई हत्या की वारदात सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गई. इसकी फुटेज सोशल मीडिया में इतनी तेजी से वायरल हुई कि केवल शहर नहीं राज्य में इसकी चर्चा होने लगी. लोग मुंबई-पुणे से फोन कर अपने रिश्तेदारों से घटना के बारे में पूछने लगे. जिस तरह से बीच चौराहे पर हमलावरों ने बाल्या बिनेकर को मौत के घाट उतारा उसे देखकर लगता है कि उनके दिलो-दिमाग पर हैवानियत सवार थी. इस घटना ने शहर के नागरिकों को झकझोरकर रख दिया है. हर जगह बस इसी वारदात की चर्चा हो रही है और कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े हो रहे है.

मर्डर फ्री सिटी का दावा खोकला
इस प्रकार की घटना शहर के लिए शर्मनाक है. 1 वर्ष पहले तक छोटी-छोटी घटनाओं पर सीएम देवेंद्र फडणवीस से इस्तिफा मांगने वाले नेता अब चुप्पी साधे बैठे है. गृहमंत्री अनिल देशमुख के घर से महज 500 मीटर की दूरी पर भरे चौराहे पर यह वारदात हुई है. अब नैतिकता के आधार पर उन्हें खुद इस्तिफा देना चाहिए. गृहमंत्री का पदभार संभालने के बाद मर्डर फ्री सिटी का दावा पूरी तरह खोकला है. यह वारदात कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान लगाने वाली है. हत्यारों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. शहर के नागरिकों के मन में पैदा हुए भय को दूर करना जरूरी है. – महापौर संदीप जोशी.

अपराधियों से सख्ति से निपटे पुलिस
इस प्रकार की घटना हृदय विदारक है. शहर में पहले भी हत्याओं की कई वारदात हुई है, लेकिन मैं अपने उपराजधानी को क्राइम कैपिटल बोलकर अपने शहर की छवि खराब नहीं करूंगा. ऐसे अपराधियों से पुलिस सख्ती से निपटे. शहर में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए हर संभव कदम उठाए जाए हम साथ रहेंगे. हम सभी को सोचना पड़ेगा और शहर की स्थिति सुधारनी पड़ेगी. भाजपा की सरकार के समय गृहमंत्री देशमुख खुद नागपुर को क्राइम कैपिटल कहते थे. अब उनके हाथ में पूरे राज्य का लॉ एंड आर्डर है. शहर के किसी अपराधी को बख्शा न जाए. – प्रवीण दटके, विधायक.

फुटेज देख सहमे लोग
बेहद निर्ममता से भरे चौराहे पर इस हत्या की वारदात को अंजाम दिया गया. इसका वीडियो देखकर लोग डरे-सहमे है. वीआईपी रोड पर इस तरह की वारदात होना आश्चर्य की बात है. यदि गृहमंत्री के घर से कुछ दूरी पर यह घटना हुई है तो कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा होना लाजमी है. बिहार और यूपी में इस तरह की वारदातें होती है, लेकिन महाराष्ट्र में ऐसा नहीं होना चाहिए. पुलिस कमिश्नर से अपील है कि ऐसी वारदातों को अंजाम देने वाले अपराधियों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए. नागरिकों में यह संदेश जाना चाहिए कि शहर में कोई अपराध कानून से बच नहीं सकता. नागरिकों का डर दूर होना चाहिए. -नितिन तिवारी, शिवसेना शहर समन्वयक.

शहर में नहीं चलेगी गुंडागर्दी
ऐसी गुंडागर्दी शहर में कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी. शहर पुलिस ऐसे अपराधियों से निपटने के लिए सक्षम है. गृहमंत्री अनिल देशमुख भी शहर में होने वाली हर घटना को लेकर सजग है. वारदात की जानकारी मिलते ही उन्होंने तुरंत सीपी को आदेश दिया कि जल्द से जल्द अपराधी को गिरफ्तार करो. आरोपी को पकड़ा भी जा चुका है. पुलिस हर वारदात को नहीं रोक सकती, लेकिन किसी वारदात के बाद पुलिस का एक्शन सही होना चाहिए. पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. उन्हें सख्त से सख्त सजा दिलाने का काम पुलिस करेगी. – प्रशांत पवार, अध्यक्ष, जय जवान जय किसान संगठन.

सक्षम है पुलिस
नागपुर की पुलिस हर स्थिति से निपटने के लिए सक्षम है. गृहमंत्री ने पुलिस को अपराधियों पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए है. पुलिस अपना काम बखूबी कर रही है. इस तरह की घटनाओं को रोका नहीं जा सकता. पूर्व में सफेदपोश अपराधियों पर की गई कार्रवाई से साफ है कि पुलिस किसी को नहीं बख्श रही है. इस तरह की घटना दुखद जरूर है, लेकिन पुलिस की काबिलियत पर सवाल खड़ा करना ठीक नहीं है. – केतन ठाकरे, प्रदेश सचिव, यूथ कांग्रेस. 

शहर की स्थिति खराब
शहर की स्थिति खराब होते जा रही है. आए दिन हत्या की वारदातें सामने आ रही है. यह घटना तो दिलदहला देने वाली है. कार सवार के ढेर होने के बाद भी अपराधी उसे हथियारों से गोदते रहे. बीच चौराहे पर यह सब हो रहा था. आस-पास खड़े लोग डर के मारे भागने लगे. इससे समझा जा सकता है कि शहर की कानून व्यवस्था खराब हो रही है. दुपहिया वाहन पर 3 अपराधी हथियारों से लैस होकर घूम रहे थे. वारदात को अंजाम देकर फरार भी हो गए और कोई उन्हें रोक नहीं पाया. क्या कानून केवल आम नागरिकों के लिए है. – दीप पिल्ले

हर जगह पुलिस लगाना संभव नहीं
शहर की जनसंख्या 30 लाख के पार है. पुलिस महज 8000 है. ऐसे में हर जगह पुलिसकर्मियों की ड्यूटी नहीं लगाई जा सकती. पिछले कुछ समय में पुलिस ने अच्छा काम किया है. बड़े और सफेदपोश अपराधियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया है. यदि किसी आम नागरिक के साथ कुछ अनुचित होता तो बात अलग थी. अपराधी ने अपराधी की हत्या की. यह तो पहले से चला आ रहा है. बिना समय गवाएं पुलिस ने क्विक एक्शन लिया और सभी हमलावरों को गिरफ्तार कर लिया. हमें पुलिस की सराहना करनी चाहिए. -आशीष डांगोरे.