Corona Positive 01
File Photo : PTI

नागपुर. मेयर संदीप जोशी की संकल्पना से मनपा व आईएमए के संयुक्त तत्वावधान में चल रहे कोविड संवाद में डाक्टरों ने नागरिकों से संवाद साधा और अपील की कि कोरोना के संदर्भ में वे अपने कर्तव्यों को पहचानें और शासकीय यंत्रणा का सहयोग करें. कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए सेनिटाइजेशन, मास्क, सेल्फ डिस्टेंसिंग का पालन करना आवश्यक है. इसके अलावा रोग प्रतिकार शक्ति बढ़ाने के लिए नियमित व्यायाम और पौष्टिक आहार लेने की जरूरत है.

आईएमए के उपाध्यक्ष डा. दिनेश अग्रवाल और कन्सल्टेन्ट फिजिशियन व आईएमए के कोषाध्यक्ष डा. सचिन गाथे ने कहा कि प्रशासन व डाक्टरों द्वारा लगातार नागरिकों को नियमों का पालन करने की अपील की जा रही है लेकिन अनेक लोग गैरजिम्मेदारानी तरीके से बाहर घूम रहे हैं. उन्होंने कहा कि अगर कोरोना से बचना है तो आपको यह मानकर चलना होगा कि सामने वाले को कोरोना है. आपके कारण दूसरे को कोरोना ना हो, यह प्रत्येक की जवाबदारी है.

एक व्यक्ति 20 को बाधित कर सकता
डाक्टरों ने कहा कि कोरोना का संक्रमण तेजी से फैलता है. एक व्यक्ति 15-20 लोगों को बाधित कर सकता है इसलिए दो व्यक्तियों के बीच 2 मीटर का डिस्टेंस रखने की अपील बार-बार की जा रही है. मास्क लगना अत्यावश्यक है. बिना मास्क के समीप के लोगों से बोलने में कोविड का खतरा सर्वाधिक है. बार-बार हाथ धोना अनिवार्य है या फिर हैंड सैनिटाइनज करते रहें. उन्होंने कहा कि यह संक्रमण डाक्टरों के लिए भी नया है इसिलए फिलहाल इससे बचना ही उपाय है. नियमों का पालन ही सर्वोत्तम रास्ता है.

जल्द वैक्सीन आने की उम्मीद
डाक्टरों ने नागरिकों से संवाद के दौरान बताया कि कोविड वैक्सीन पर कई कंपनियां काम कर रही हैं जिसके चलते इस संदर्भ में जल्द ही सकारात्मक खबर आने की उम्मीद है. फिलहाल टेस्ट, ट्रैक व ट्रीटमेंट इस त्रिसूत्रीय कार्यक्रम पर ही चलना होगा. समाज में बिना लक्षण वाले मरीजों की संख्या काफी अधिक है जो सबसे अधिक खतरनाक है. ये कोरोना के वाहक हैं इसलिए किसी भी संक्रमित के संपर्क में आने या फिर जरा भी लक्षण नजर आने पर तुरंत टेस्ट करवाना जरूरी है. सिटी में मेडिकल व प्रशासकीय यंत्रणा युद्ध स्तर पर कार्य कर रहे हैं इसलिए नागरिकों को भी आगे आकर मदद करनी चाहिए.