Bag Returned, GRP

    नागपुर. 20 पासपोर्ट से भरा एक बैग हटिया एक्सप्रेस में रह गया. लोहमार्ग पुलिस ने रेलवे सुरक्षा बल के सहयोग से इस बैग को ढूंढ कर बैग सुपरवाइजर को सौंप दिया. बागडोर, गिरीडीह, झारखंड निवासी महेश चुटर रविदास (41) अपने साथ 19 मजदूरों के पासपोर्ट को लेकर हटिया एक्सप्रेस के एस6 कोच में सवार होकर मुंबई जा रहा था. वहां से इन मजदूरों को इलेक्ट्रिक ओवरहेड हाई पावर टावर और लाइन के लिए लंका ले जाना था. इसलिए महेश ने सभी 20 पासपोर्ट एक ही बैग में रखे थे.

    ट्रेन नागपुर पहुंची तो वह पानी पीने के लिए ट्रेन से उतरा. इस बीच ट्रेन चल निकली और बैग उसकी सीट पर ही रह गया. घबराकर महेश तुरंत जीआरपी थाने पहुंचा. जानकारी मिलते ही पीआई जगदाले ने जीआरपी कर्मियों को निर्देश दिया कि आरपीएफ की मदद से ट्रेन में रखे बैग की स्थिति जानी जाये. इसके बाद आरपीएफ स्टाफ की तलाशी में बैग सीट पर ही पाया गया जिसे वापस नागपुर भेज दिया गया. इसके बाद जगदाले ने बैग को महेश के सुपुर्द किया. बैग में सभी 20 पासपोर्ट सही सलामत देखकर महेश ने राहत की सांस ली.