accident

नागपुर.  महाराष्ट्र (Maharashtra) में ‘बुद्धिमान यातायात प्रबंधन प्रणाली’ की सहायता से तथा वाहनों की तेज गति पर नजर रखने के लिए उठाए गए कदमों के चलते बीते तीन वर्ष में सड़क हादसों में कमी आई है। राज्य की राजमार्ग पुलिस ने यह जानकारी दी है। राजमार्ग पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक पिछले वर्ष सड़क हादसों में 8.47 फीसदी की कमी तथा उनमें मरने वालों की संख्या में 3.56 फीसदी की कमी आई है। आंकड़ों के मुताबिक राज्य में 2016 में 39,878 सड़क हादसे हुए जबकि 2017 में 36,056 सड़क हादसे, 2018 में 35,717 तथा 2019 में 32,925 सड़क हादसे हुए।

आंकड़ों के मुताबिक बीते तीन साल में ऐसे हादसों में भी कमी आई है जिनमें कोई घायल नहीं हुआ। 2016 में ऐसे 6,271 हादसे हुए, जबकि 2019 में इसमें 43.10 फीसदी की कमी आई और ऐसे कुल 3,568 हादसे हुए। राज्य में ऐसे हादसों में भी कमी आई है जिनमें किसी व्यक्ति की मृत्यु हुई। राज्य में 2019 में ऐसे 11,787 हादसे हुए जबकि 2018 में यह संख्या 12,098 थी यानी इन हादसों में 2.57 फीसदी की कमी आई है। सड़क हादसों में मरने वालों की संख्या भी घटी है। 2018 में 13,648 लोगों की सड़क हादसों में मृत्यु हुई लेकिन 2019 में इसमें 3.56 फीसदी की कमी आई तथा उस वर्ष सड़क हादसों में कुल 12,788 लोगों की मृत्यु हुई।

महाराष्ट्र राजमार्ग पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पीटीआई-भाषा को बताया कि सड़क हादसों में कमी राजमार्ग एवं राज्य पुलिस के वर्षों से किए जा रहे प्रयासों का परिणाम है। उन्होंने बताया, ‘‘राजमार्ग पुलिस ने मुंबई-पुणे एक्सप्रेस वे पर यातायात प्रबंधन प्रणाली लगाई है, उसी का परिणाम है कि उस मार्ग पर ऐसे हादसे कम हुए हैं जिनमें किसी व्यक्ति की मृत्यु हुई हो।