College students
File Photo

    • 35,000 ने अब तक किया पंजीयन 
    • 50 संस्थाएं विभाग में 
    • 13,126 कुल सीटें उपलब्ध 
    • 60 प्रश सीटें ही भर पाई थीं 

    नागपुर. 10वीं का परिणाम घोषित होने से पहले ही पॉलिटेक्निक प्रवेश प्रक्रिया शुरू हो गई थी. लेकिन परिणाम शत-प्रतिशत लगने से प्रवेश भी ज्यादा होने की उम्मीद बढ़ गई हैं. पिछले वर्षों से छात्रों की राह तकने वाली संस्थाओं ने राहत की सांस ली है. अब तक 35,000 छात्रों ने प्रवेश हेतु पंजीयन कराया है. अंतिम तिथि तक संख्या में और वृद्धि हो सकती है. 

    10वीं का परिणाम घोषित होने के बाद अब करीब सप्ताहभर मूल अंकसूची मिल सकेगी. 10वीं उत्तीर्ण होने वाले अनेक छात्र पॉलिटेक्निक में प्रवेश लेते हैं. इस बार 11वीं प्रवेश के लिए सीईटी होने वाली है लेकिन शिक्षा विभाग ने सीईटी अगस्त के अंतिम सप्ताह में रखी है. इसका लाभ पॉलिटेक्निक संस्थाओं को मिलेगा. पिछले वर्ष पॉलिटेक्निक में केवल 60 फीसदी सीटें ही भर पाई थीं. लेकिन इस बार करीब 70-80 फीसदी सीटें भरने की उम्मीद संस्थाओं द्वारा व्यक्त की जा रही है.

    राज्य में पॉलिटेक्निक की 1,17,824 सीटें उपलब्ध है, वहीं नागपुर विभाग में 50 संस्थाओं में 13,126 सीटों का समावेश है. पिछले वर्ष 6,494 सीटों पर ही प्रवेश हो पाए थे. यानी करीब 60 फीसदी सीटें खाली रह गई थीं. पॉलिटेक्निक के लिए 23 जुलाई तक ऑनलाइन आवेदन करने की तिथि निश्चित की गई है. प्रवेश हेतु पंजीयन के लिए मूल अंकसूची के साथ ही लिविंग सर्टिफिकेट भी आवश्यक होता है. जब तक 10वीं के छात्रों को मूल अंकसूची नहीं मिल जाती तब लिविंग सर्टिफिकेट भी नहीं मिलेगा. मूल अंकसूची मिलने के बाद पंजीयन की गति भी बढ़ने की उम्मीद है.

    CBSE 10वीं के परिणाम जल्द ही 

    सीबीएसई 10वीं के परिणाम भी जल्द घोषित होने की उम्मीद है. इस बार स्टेट बोर्ड की तरह ही सीबीएसई बोर्ड ने भी परीक्षा नहीं ली. 10वीं में लिए गए यूनिट टेस्ट और ओवरआल परफामेंस के आधार पर परिणाम तैयार किया गया है. हालांकि सीबीएसई स्टेट बोर्ड से पहले ही तैयारी में जुट गई थी. उम्मीद थी कि जुलाई के दूसरे सप्ताह में परिणाम आ जाएगा लेकिन कुछ राज्यों में कोरोना का प्रादुर्भाव अधिक होने से समय पर काम पूरा नहीं हो सका. यही वजह रही कि स्टेट बोर्ड की तुलना में परिणाम में देरी हो गई.  हालांकि सीबीएसई ने अब तक अधिकृत तिथि की घोषणा नहीं की है लेकिन 20 जुलाई तक परिणाम आने की उम्मीद की जा रही है.