NIA
Representational Pic

    नागपुर. संघ मुख्यालय होने के कारण वैसे ही नागपुर हमेशा से ही संवेदनशील शहरों की सूची में रहता है. ऐसे में अफगानी के पकड़े जाने की वजह से सुरक्षा एजेंसियां हाई अलर्ट मोड पर आ गई हैं. इसी के साथ शहर में एनआईए के पहुंचने की भी अटकलें लगाई जा रही हैं. शहर में एनआईए की टीम के पहुंचने की खबर तो फैली लेकिन देर रात तक इसकी पुष्टि नहीं हो पाई.

    एंटीलिया मामले को लेकर वैसे भी लगातार नए-नए खुलासे हो रहे हैं. ऐसे में गुरुवार को एनकाउंटर स्पेशलिस्ट प्रदीप शर्मा को एनआईए ने गिरफ्तार किया. एंटीलिया के सामने कार में मिलीं जिलेटिन की छड़ें नागपुर की ही एक कंपनी में बनी थीं. इसीलिए जांच के लिए एनआईए की टीम का नागपुर आना तो तय ही था. बताया जाता है कि 3 अधिकारी गुरुवार की रात नागपुर पहुंचे.

    बुधवार को सिटी पुलिस ने एक अफगानी को गिरफ्तार किया था जो अवैध तरीके से पिछले 10 वर्षों से नागपुर में रह रहा था. अफगानी आतंकी के संगठनों से जुड़े होने की भी जानकारी है. पकड़े गए आरोपी नूर मोहम्मद (असली नामक अब्दुल हक) के कंधे पर गोली लगने के निशान भी हैं. कुछ दिन पहले उसने सभी मुसलमानों से इस्लामिक देशों के मुजाहिदों का समर्थन करने और विरोध करने वाले की गर्दन काटने का वीडियो बनाया था. इस वजह से भी सुरक्षा एजेंसियों का टेंशन बढ़ गया है. इस बीच एनआईए के नागपुर पहुंचने की खबर से खतरे की घंटे बजती दिख रही है.