आर्यनगर में सीवर लाइन फूटी, रोड पर बहता है गंदा पानी

  • समस्या सुलझाने नागरिकों की दिया निवेदन, प्रभाग 1 की समस्या

नागपुर. प्रभाग क्रमांक 1 नारा के अंतर्गत आर्य नगर में लेआउट पर नागरिकों की वसाहत हुए कई साल गुजर चुके हैं इसके बावजूद यहां पर नागरिकों को सभ्य नागरिकों को मिलने वाली सुविधाओं से वंचित रहना पड़ रहा है. लेआउट बसने के समय इस बस्ती से गंदगी निकास के लिए बनाई गईं सीवर और गटर लाइन के चेंबर्स फूट चुके हैं और उनका पानी बस्ती में बह रहा है जिसके फलस्वरूप सुविधा के नाम पर तकलीफों के जाल में नागरिक उलझ गए हैं.

इस समस्या को लेकर शुक्रवार को शिवसेना नेता रवि चुरागले, सुनील बैनर्जी, किशोर ठाकरे, हिमांशु वैद्य, अंकित खोब्रागड़े, तेजस खडतकर, नेन्द्र घाडगे, हरकेश यादव, बादल भुले, हरीष राऊत सहित अनेक नागरिक मंगलवारी जोन कार्यालय में उपायुक्त को निवेदन दिया.

नागरिकों ने बताया कि आर्यनगर में घरों के गंदे पानी को लेकर जाने वाली सीवर लाइन का चेंबर लवरेज ग्रीन पार्क स्कीम के पास एक महीने से फूटा पड़ा है जिसके कारण घरों की गंदा पानी बहकर सड़क पर आ गया है. यह रोड से निचले प्लॉटों में गंदे पोखर की तरह भर गया है. दूर-दूर तक इसकी गंध जा रही है. इसकी नमी से घरों में सीलन आ गई है. कई घरों के धरातल नीचे होने से घरों में भी पानी घुस रहा है. जरा सी वर्षा होने पर स्थिति बहुत विकराल हो जाती है. बदबू, नमी और गंदगी के कारण लोगों का जीना मुश्किल हो गया है. नागरिकों ने तुरंत समस्या सुलझाने की मांग की है.

रोड में अंधेरा, घूमते हैं सांप

नागरिकों ने बताया कि इतनी पुरानी बस्ती होने के बावजूद यहां स्ट्रीट लाइट नहीं हैं. किसी को किसी कारणवश पैदल आना-जाना पड़ जाए तो उसके लिए रास्ता जोखिमों से भरा है. सड़क पर जहरीले सांप घूमते नजर आते हैं. लाइट नहीं होने से चोर गैंग की नजर इलाके में लगी रहती है. कई बार चोरियों हो चुकी हैं. नागरिकों में भय और असुरक्षा का माहौल है.