Shab-E-Barat
Representational Pic

  • गृह विभाग ने जारी किए दिशानिर्देश

नागपुर. कोरोना के बढ़ते संक्रमण के कारण इस वर्ष भी धार्मिक त्योहारों को संक्रमण का ग्रहण लगने वाला है. मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए गृह विभाग ने शब-ए-बारात को लेकर दिशानिर्देश जारी किए हैं. विभाग ने समाज से अपील की है कि इस वर्ष शब-ए-बारात को बहुत सादगी से मनाएं और कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक नियमों का पालन करें. शब-ए-बारात के मौके पर सभी मुस्लिम भाई-बहन अपनी-अपनी मस्जिदों में रातभर नमाज, कुरान और दुआ करते हैं इसलिए बहुसंख्यक मुस्लिम मोहल्ले में रातभर हलचल रहती थी.

कुछ जगहों पर जलसे का भी आयोजन किया जाता है. लेकिन इस वर्ष 28 मार्च की रात और और 29 मार्च की सुबह शब-ए-बारात के अवसर पर नियमों की पाबंदी होगी. इस बार किसी भी तरह का बड़ा आयोजन नहीं होगा.

मस्जिदों में भी एक बार में 40 से 50 व्यक्तियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए बिना किसी भीड़ और मास्क लगाकर नमाज के लिए जाने की छूट होगी. मस्जिद के प्रबंधक को मस्जिद और उसके आसपास, सामाजिक दूरी और स्वच्छता नियमों (मास्क, सैनिटाइज़र आदि) का पालन कराना होगा. धारा-144 के नियमों का पालन करना होगा.