Shab-E-Barat
Representational Pic

  • सादगी से त्योहार मनाने की अपील

नागपुर. शब-ए-बरात रविवार को मनाया जाएगा. मुस्लिम समुदाय में अपने दिवंगत परिजनों को याद करने का दिन शब-ए-बरात 28 मार्च रविवार को है. कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को देखते हुए शासन ने गाइडलाइन जारी की है. जिसका पालन कब्रिस्तानों और मस्जिदों में पालन करना अनिवार्य होगा. कब्रिस्तान इंतेजामिया कमेटी ने भी शब-ए-बरात को लेकर एहतियात बरती है. भीड़ इकट्ठा करने से कमेटियों ने मना कर दिया है. लोगों से घरों में इबादत करने अपील की गई.

महानगर में फिर से बढ़ते कोरोना संक्रमण के हालात के चलते शहर की तमाम मस्जिद कमेटियों ने सादगी से इस पर्व को मनाने की अपील की है. अवाम से गुजारिश की है कि सब्र से काम लें, अपने-अपने घरों में नवाफिल नमाज अदा करें, तिलावत करें और आलमे इस्लाम के सभी मरहूमिनों के लिए मग्फिरत के साथ हमारे मुल्क हिंदुस्तान की हिफाजत की दुआएं करें.

जुलूस पर पाबंदी

कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए सरकार ने शब-ए-बरात को लेकर गाइडलाइन जारी की है. जिसके अनुसार 28 मार्च की रात से लेकर 29 मार्च सुबह तक कोई भी जुलूस नहीं निकाले जाएंगे. साधारण तरीके से शब-ए-बरात मनाने का निर्देश दिया गया है. इस दौरान मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए एक बार में सिर्फ 40-50 लोग जा सकते हैं और नमाज पढ़ने के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. मस्जिद मैनेजमेंट को पूरा परिसर अच्छे से सैनिटाइज करने को कहा गया है.