train
File Photo

    नागपुर. शहर में कोरोना संक्रमण का असर कम होते ही रेल प्रशासन ने बंद की गई स्पेशल एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनों को दोबारा पटरी पर लाना शुरू कर दिया गया है. इसी तहत दक्षिण-पूर्व-मध्य रेल के तहत इतवारी से बिलासपुर के बीच चलने वाली ट्रेन 08240/39 शिवनाथ और 08258/57  इंटरसिटी एक्सप्रेस को 4 जुलाई दोबारा शुरू किया जा रहा है. मिली जानकारी के अनुसार ट्रेन 08240 इतवारी-बिलासपुर शिवनाथ एक्सप्रेस 4 जुलाई को 23.55 बजे इतवारी से चलकर अगले दिन सुबह 7 बजे बिलासपुर पहुंचेगी. वहीं ट्रेन 08258 इतवारी-बिलासपुर इंटरसिटी 06.15 बजे इतवारी से चलकर 13.20 बजे बिलासपुर पहुंचेगी. 

    गेवरा से बनेगी पैसेंजर ट्रेन

     ट्रेन 08239 को 3 जुलाई से गेवरा से इतवारी तक पैसेंजर ट्रेन बनाकर चलाया जाएगा. यह ट्रेन 18.05 बजे गेवरा से चलकर अगले दिन 04.30 बजे इतवारी आएगी. वहीं ट्रेन 08257 बिलासपुर-इतवारी इंटरसिटी दोपहर 15.30 बिलासपुर से चलकर रात 22.55 बजे इतवारी आएगी. इनमें ट्रेन 08239 पैसेंजर कुल 26 स्टापेज लेगी जबकि ट्रेन 08240 शिवनाथ एक्सप्रेस 14 जबकि ट्रेन 08257/58 इतवारी और बिलासपुर के बीच 13 स्टापेज लेगी. 

    बढ़ेगी बालाघाट, जबलपुर की कनेक्टिविटी

    यह पैसेंजर और एक्सप्रेस ट्रेनें शुरू होने से बड़ी संख्या में आम यात्रियों को फायदा होगा. वहीं व्हाया गोंदिया होते हुए सिटी को बालाघाट और जबलपुर के लिए एक और कनेक्टविटी मिल जाएगी. दोनों ही ट्रेनों का लंबे समय से इंतजार किया जा रहा था. इसका लाभ व्यापारियों और मजदूरों के साथ आम यात्रियों को भी मिलेगा. वर्तमान में लोगों के महंगे किराये के साथ बस का सफर करना पड़ रहा था लेकिन शिवनाथ और इंटरसिटी एक्सप्रेस शुरू होने से इस परेशानी से राहत मिलेगी. साथ ही व्यापारियों को बिलासपुर और रायपुर से सीधे जुड़ने का परिवहन साधन भी मिल गया. 

    इटारसी, वर्धा, काजीपेट पैसेंजर कब?

    एसईसीआर द्वारा शिवनाथ और इंटरसिटी एक्सप्रेस दोबारा शुरू करने के साथ ही मध्य रेल नागपुर मंडल के तहत नागपुर से इटारसी, वर्धा और अजनी से काजीपेठ आदि रूट पर बंद पैसेंजर ट्रेनों को लेकर उम्मीद बढ़ गई है. इन पैसेंजर ट्रेनों के अलावा नागपुर से भुसावल चलने वाली पैसेंजर भी पूरा साल ही हाउसफुल चलती थी. लेकिन कोरोना प्रादुर्भाव के चलते इन्हें दोबारा पटरी पर लाने की कोई चर्चा नहीं की जा रही. हालांकि नागपुर-इटारसी-नागपुर और नागपुर-वर्धा-नागपुर पैसेंजर ट्रेन कोरोना काल शुरू होने से ही ट्रैक मेंटेनेंस के नाम पर बंद थीं. इन पैसेंजर ट्रेनों से हजारों यात्री सफर करते थे. लॉकडाउन के कारण आर्थिक परेशानी झेल रहे नागरिकों के लिए ये पैसेंजर ट्रेनें सफर के लिए राहत दिला सकती हैं.