ST BUS

  • राजनांदगांव में लॉकडाउन से बॉर्डर होगा सील

नागपुर. कोरोना का संक्रमण महाराष्ट्र से लगे राज्यों में तेजी से फैल रहा है जिससे पड़ोसी राज्यों में अब धीरे-धीरे लॉकडाउन लगने लगा है. नागपुर से लगे छत्तीसगढ़ में भी अब बस सेवा कुछ दिनों के लिए बंद हो जाएगी. महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ का बॉर्डर बाघ नदी अब सील हो जाएगी. 10 अप्रैल से राजनांदगांव में लॉकडाउन लग रहा है जो काफी सख्त बताया जा रहा है. इस दौरान छत्तीसगढ़ में प्रवेश काफी मुश्किल होगा. बाघ नदी बॉर्डर फिलहाल 19 अप्रैल तक सील किया जा रहा है. ऐसे में नागपुर से चलने वाली एसटी बसों को 10 अप्रैल से बंद किया जा रहा है. अधिकारियों ने इसे लेकर अपनी तैयारी भी शुरू कर दी है. अधिकारियों का कहना है कि जब बाघ नदी बॉर्डर सील है तो बस भेजी नहीं जाएगी. नागपुर से छत्तीसगढ़ के लिए 3 बसें जाती हैं. एक बस रायपुर के लिए और 2 राजनांदगांव के लिए.

स्थिति स्पष्ट नहीं होने से हो रही समस्या 

राजनांदगांव में लॉकडाउन लगने से एसटी की बसों के प्रवेश पर रोक लगेगी या नहीं, इसकी अधिकृत जानकारी नहीं मिली है लेकिन अधिकारियों ने खबर के आधार पर बसों को न भेजने का निर्णय लिया है. वहीं राजनांदगांव में लगे लॉकडाउन में कलेक्टर ने बसों की ऑनलाइन बुकिंग के माध्यम से चलने की बात कही है. लेकिन आदेश में यह भी स्पष्ट नहीं है कि वो सिटी में प्रवेश करेगी या नहीं. स्थिति गोलमोल होने के कारण एसटी मैनेजमेंट भी असमंजस में फंसा हुआ है. 

सिर्फ देवरी तक ही चलेंगी बसें

अगर छत्तीसगढ़ की बसों को रोका जाता है तो राजनांदगांव से पहले महाराष्ट्र बॉर्डर तक ही बसों को चलाया जाएगा. इसका मतलब ये हुआ कि देवरी के आगे कोई बस नहीं जाएगी. हालांकि राजनांदगांव कलेक्टर ने बसों के प्रवेश पर रोक लगाने एसटी महामंडल को पत्र नहीं भेजा है. इंटरस्टेट बसों का परिवहन होगा या नहीं इसे लेकर भ्रम की स्थिति बनी हुई है. फिलहाल एसटी महामंडल ने देवरी तक ही बस चलाने का निर्णय लिया है.

मप्र के लिए पहले ही बंद है सेवा

छत्तीसगढ़ से पहले मध्यप्रदेश में महाराष्ट्र की बसों पर रोक लगा दी गई है. मध्यप्रदेश ने 31 मार्च तक पहले महाराष्ट्र के बसों पर रोक लगाई थी. लेकिन इसके बाद तारीख को आगे बढ़ाते हुए 15 अप्रैल तक बसों पर रोक लगा दिया है. महाराष्ट्र से मध्यप्रदेश जाने वाली प्राइवेट बसों को भी 15 अप्रैल तक प्रवेश नहीं है.