ST bus

  • गत वर्षों की तुलना में 2018-19 में सबसे ज्यादा डीजल बचाया

नागपुर. एसटी बस स्टैंड ने गत वर्षों की तुलना में 2018-19 में सबसे ज्यादा डीजल बचाने का रिकार्ड बनाया है. एसटी ने 2018-19 में कुल 87,260 लीटर डीजल बचाया है. यह बचत एसटी मंडल ने अपनी तकनीकी सूझबूझ और ड्राइवरों के साथ समन्वय स्थापित कर की है. एसटी ने विभिन्न रूटों पर चलने वाली बसों को किलोमीटर के हिसाब से डीजल देने के साथ ही टार्गेट के हिसाब से बस चलाने को लेकर भी प्लानिंग की. इसके कारण साल में 87,000 लीटर से ज्यादा डीजल बचाने में एसटी सफल रही.

इस उपलब्धि के लिए एसटी के मैनेजर अनिल आमनेरकर को मुंबई में संरक्षण पेट्रोलियम अनुसंधान संघ द्वारा सम्मानित किया गया. साथ ही उन्हें इस कार्य के लिए 50,000 रुपए का नकद भी प्रदान किए गए हैं. यह सम्मान एमएसआरटीसी के जनरल मैनेजर आर. कामडे ने दिया. साथ ही इस कार्य के लिए उन्हें प्रोत्साहित भी किया.

पुरस्कार राशि का उपयोग यात्रियों की सुविधा के लिए

डीजल बचाने को लेकर एसटी बस मैनेजमेंट ने नया कीर्तिमान हासिल किया है. इसके लिए एमएसआरटीसी ने एसटी बस डिपो को 50,000 रुपए का नगद पुरस्कार दिया है. मैनेजर  आमनेरकर ने कहा कि इस पुरस्कार राशि का उपयोग यात्रियों की सुविधा को बेहतर बनाने के लिए किया जाएगा, जिसमें स्टैंड में वाटर प्यूरीफायर जैसी मूलभूत सुविधाओं में विस्तार किया जाएगा. 

ड्राइवरों की मदद से हो पाया संभव

डिपो के मैनेजर आमनेरकर ने कहा कि हमने ड्राइवरों और कंडक्टरों के सहयोग से यह काम किया है. छोटे-छोटे टिप्स और कुछ निर्णय लेकर हमने डीजल बचाया है, जिसमें ड्राइवरों को ट्रेनिंग देना भी शामिल था. सबकी मदद से यह पुरस्कार एसटी बस स्टैंड को मिला है. आगे भी इस तरह का कार्य किया जाएगा.