sand smuggling
File Photo

  • सिंडिकेट लगा रही सरकारी खजाने को चूना

नागपुर. जिले ही नहीं बल्कि पूरे नागपुर संभाग में रेती घाटों से चोरी के खिलाफ जिला प्रशासनों द्वारा पिछले वर्ष से समय-समय पर कड़ी कार्रवाइयां की जा रही हैं लेकिन बावजूद इसके रेती घाटों से अवैध उत्खनन और परिवहन नहीं रुक पा रहा है. कार्रवाईयों के आंकड़े भी बेहद चौंकाने वाले हैं. अकेले नागपुर जिले में रेत माफिया बड़े पैमाने पर घाटों से रेती चोरी की घटना को अंजाम दे रहे हैं. दंडात्मक कार्रवाई के बाद भी रेती चोरी नहीं रुक रही है.

सूत्र बताते हैं कि रेत माफिया बकायदा सिंडिकेट यानी ग्रुप बनाकर इस गोरखधंधे को अंजाम देने में लगे हुए हैं. अवैध खनन और परिवहन थम नहीं रहा है. जिले में खनिकर्म व राजस्व विभाग द्वारा रेती के अवैध परिवहन करने वाली गाड़ियों को पकड़ कर जुर्माना व जब्ती के साथ गिरफ्तारी की कार्रवाई भी की लेकिन असर नहीं हो रहा है.

रेती घाटों में जेसीबी मशीनें लगाकर अवैध खनन धड़ल्ले से जारी है. जिला प्रशासन द्वारा जिले की सभी रेती घाटों की निलामी की जाती है लेकिन रेत माफिया ग्रुप बनाकर कर कुछ ही घाटों की बोली लगाते हैं और अधिकतर को छोड़ देते हैं. उसके बाद छोड़े गए घाटों से भी रेती चोरी की जाती है. इसमें राजस्व विभाग के कुछ भ्रष्ट लोगों से मिलीभगत बताई जाती है.