File Photo
File Photo

नागपुर. इन दिनों चौराहों पर आवारा मवेशियों के जमावड़े के कारण स्थानीय निवासी और व्यापारी काफी परेशान हैं. प्रशासन की उदासीनता के चलते शहर के मुख्य मार्गों के साथ-साथ बस्तियों की सड़कों पर भी आवारा मवेशियों का जमावाड़ा लगा रहा हैं. इसके चलते नागरिकों को हर रोज यातायात के दौरान भारी परेशानियों का सामना करना पड रहा हैं. बाजारों में सरेआम विचरण करने के बाद आवारा पशु चौक या सड़कों पर ही अपना डेरा जमा रहे है.

नागरिकों का कहना है कि कई बार मवेशी राहगिरों को मारने भी दौडते है. इतना ही नहीं इस कारण कई बार वाहन चालक हादसे का शिकार होने से बाल-बाल बचे. ऐसे में लोगों का सड़क से गुजरना मुश्किल हो गया है. इतना ही नहीं सड़क पर मवेशियों का जमावड़ा होने के कारण संकरी सड़कों होने पर भी छोटे हो या बड़े वाहनों को रांग साइड से जाना पड रहा है. जिससे जगह-जगह ट्राफिक भी बाधित हो रहा है. कोरोना के दौरान पहले कुछ दिन पशू मालकों पर कार्रवाई के बाद संबंधित विभाग अब सूस्त हो गया है. शहर में कहीं भी इन आवारा मवेशियों को पकड़ ने वाली गाड़ी घूमती नज़र नहीं आ रही.

मवेशियों के मालक बाजारों में चारा खाने के लिए पशूओं को ऐसे ही खूला छोड देते है. लेकिन सड़क पर मवेशियों का कब्ज़ा होने से यातायात कर रहे नागरिकों की दिक्कतों से गुजरना पड रहा है. मवेशियों के मालकों से जूर्माने का डर खत्म हो गया, इसलिए यातायात बाधित करने वाले सभी पशुओं को कब्ज़े में लेकर उनके मालकों से भारी जुर्माना वसुलकर कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए.