Strike Zp

नागपुर. सरकार की कामगार व आर्थिक नीतियों के विरोध में आज केंद्रीय व राज्य सरकारी कर्मचारी सड़क पर उतरे. इस हड़ताल में जिला परिषद, कलेक्ट्रेट, विभागीय आयुक्त कार्यालय, प्रशासकीय इमारत में स्थिति अमूमन सभी विभागों के कर्मचारी भी शामिल हुए जिससे लगभग सभी सरकारी कार्यालयों में कामकाज ठप सा रहा. महाराष्ट्र राज्य जिला परिषद कर्मचारी महासंघ भी आंदोलन में कूदा.

जिला परिषद के कर्मचारी कार्यालय में हाजिर नहीं हुए. गोपीचंद कातुरे, अरविंद मदने व संजय तांबडे के नेतृत्व में जिला परिषद कर्मचारियों ने आंदोलन किया. सरकार होश में आओ, कामगारों की मांगें पूरी करो के नारे लगाए.

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए बिजली सुधार विधेयक व ऊर्जा विभाग के निजीकरण के विरोध में बिजली विभाग के तीनों कंपनियों के कर्मचारी हड़ताल पर रहे.

काटोल रोड स्थित मुख्य अभिंयता कार्यालय के बाहर मुख्य द्वार के पास कर्मचारियों ने आंदोलन किया और बिजली सुधार विधेयक वापस लेने व निजीकरण बंद करने की मांग की. एमएसईबी वर्कर्स फेडरेशन के चंद्रशेखर मौर्य, कृष्णा भोयर व पी.वी. नायडू समेत 6 यूनियनें हड़ताल में शामिल हुई. आंदोलन में बड़ी संख्या में महावितरण के कर्मचारी शामिल हुए.