आरोपी रणजीत सफेलकर 
FILE PIC
आरोपी रणजीत सफेलकर FILE PIC

  • हाटे बंधुओं से किए हथियार बरामद
  • शव को ठिकाने लगाने वाली कार जब्त

नागपुर. शहर के कुख्यात सुपारी किलर मनीष श्रीवास के अपहरण और हत्या के मामले में पुलिस ने अपना जांच अभियान तेज कर हत्या में उपयोग किए गए हथियार हाटे बंधुओं से जब्त कर लिए है़ वहीं, भिवगडे और श्रीवास की हत्या का मास्टरमाइंड सुपारी किलर रंजीत सफेलकर अब भी फरार है़ सोमवार को पुलिस ने सफेलकर की 4 गाड़ियां भी जब्त कर ली है़ फरियादी सावित्री मनीष श्रीवास द्वारा 1 मार्च 2016 को अपने पति की गुमशुदगी की शिकायत दर्ज की गई थी़ श्रीवास के हत्याकांड की गुत्थी पुलिस ने पहले ही सुलझा ली थी़ इस हत्या में पुलिस ने जांच आगे बढ़ाते हुए शरद उर्फ कालू हाटे और भरत हाटे से गहन पूछताछ की गई. इसमें उन्होंने पुलिस पावनगांव (धारगांव) के खेत परिसर में ले जाकर घटनास्थल दिखाया. और जिन हथियारों से श्रीवास की हत्या की गई थी जिस स्थान पर छुपाकर रखे थे, वह स्थान भी बताया़ पुलिस ने 2 तलवार भी जब्त कर ली है.

शव को ले जानेवाली कार बरामद

आरोपियों ने श्रीवास की हत्या करने के बाद जिस कार से उसके शव टुकड़े करने के लिए ले जाया गया. वह सेंट्रो कार भी पुलिस के हाथ लग गई़  शव को ले जाते समय यह सेंट्रो कार बीच रास्ते में खराब हो गई थी़ बाद में वह कार किसने ले गई और कहां उसे ठीक किया गया. इसकी जानकारी भी पुलिस को मिल गई है. 

कुरई घाट में फेंके शव के टुकड़े

श्रीवास की हत्या करने के बाद उसके शव के टुकड़े-टुकड़े कर उन्हें कुरई घाट में फेंकने की जानकारी आरोपियों ने दी़  लेकिन अब भी श्रीवास का शव पुलिस के हाथ नहीं लगा. जिसकी तलाश में वह जुटी है़ं 

दलाल को बेचने दी गाड़ियां जब्त

श्रीवास हत्याकांड में पुलिस ने जब सफेलकर के राइट हैंड कालू हाटे व अन्य आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, तब से ही रंजीत सफेलकर अंडरग्राउंड हो गया है़ उसने सुराग मिटाने और पुलिस उस तक न पहुंच पाए इसके लिए उसने अपनी तीनों महंगी कारें और एक दुपहिया किसी दलाल को बेचने के लिए दी थी़ पुलिस को उसकी जानकारी मिलते ही सोमवार को सफेलकर की स्कॉर्पियो गाड़ी भंडारा से बरामद कर ली. इसके अलावा उसकी फॉरच्यूनर, हुंडई और होंडा एक्टिवा गाड़ी भी दलाल से बरामद कर ली गई है़ कुल मिलाकर पुलिस द्वारा 57 लाख कीमत की गाड़ियां जब्त कर ली गई ह़ैं  यह कार्रवाई पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार, अपर पुलिस आयुक्त(अपराध) सुनील फुलारी के निर्देशों पर पुलिस उपायुक्त (डिटेक्टशन) गजानन शिवलिंग राजमाने, सहायक पुलिस आयुक्त (अपराध) नलवाडे के मार्गदर्शन में स्थानीय अपराध शाखा की टीम ने की है.