Representational Pic
Representational Pic

नागपुर. सद्भावनानगर में आसामाजिक तत्वों का आतंक दिन-ब-दिन बढते जा रह है. बदमाश और चोरी संबंधित घटनाओं को अंजाम देने वाले तत्वों ने परिसर के नागरिकों का जीना हराम कर दिया है. पुलिस ने बचने के लिए उन्होंने बस्ती के अंदर ही डेरा डाल रखा है. परिसर में कुए के पास स्थित एनआईटी ग्राउंड में शाम होते ही बदमाशों का आना जाना शुरू हो जाता है.

रिहायशी इलाके के बीच इस ग्राउंड में 15 वर्ष आयू के नाबालिगों समेत कई बदमाश असामाजिक घटनाओं को अंजाम देर रहे है. रात होते ही ग्राउंड में कुछ बदमाश गांजा और शराब पीकर गालीगलौच करते है. स्थानीय नागरिकों के टोकने पर उनसे मारपीट करते है. स्थानीय नागरिकों की मांग है कि परिसर में दैनिक रूप से रात में 11 के बाद पेट्रोलिंग की जाए.

पुलिस का नहीं डर
पुलिस से शिकायत करने की धमकी देने पर भी बदमाशों को कोई असर नहीं होता. कुछ बदमाश तो यह कहते है कि पुलिस हमारे जेब में है वह हमारा कुछ नहीं कर सकती. यदि इन असामाजिक तत्वों पर जल्द ही कार्रवाई नहीं की गई तो उनके मन में कानून को कोई भय नहीं रहेगा और वह इससे भी बढ़ी घटनाओं को अंजाम दे सकेत है. रात से तड़के 4 बजे तक कई बदमाश ग्राउंड में गांजा, शराब पीकर हंगामा करते रहते है. कोई उन्हें गांजा के साथ नहीं पकड़े इसलिए वह गांजा और अन्य नशिले पदार्थ दूकानों के शेड़ के उपर गाड़ियों के इंजन में फंसाकर रखते है.