Coronavirus
File Photo

नागपुर. सितंबर की तुलना में अक्टूबर में कोरोना से मरने वाले मरीजों की संख्या कमी आ रही हैं. वहीं पाजिटिव मरीज भी कम हो रहे हैं. लेकिन प्रशासन द्वारा टेस्टिंग में सुस्ती बरती जा रही है. डाक्टरों की माने तो मौसम में हो रहे बदलाव का असर सीधे तौर पर होता है. यही वजह है कि मामूली सर्दी, जुकाम को भी हल्के में लेना नुकसानदायक हो सकता है. संदेह होने पर तुरंत जांच कराने पर ही बीमारी का पता चल सकेगा. इस बीच बुधवार को 976 नये संक्रमितों के साथ ही अब तक कुल संख्या 84081 पर पहुंच गई है. वहीं अब तक 71602 मरीज स्वस्थ होकर अपने काम पर लौट चुके हैं.

मौसम का बिगडैल मिजाज बार-बार लोगों को परेशान कर रहा है. अक्टूबर में प्राय: ठंड शुरू हो जाती है. लेकिन अब तक बारिश का ही सिलसिला जारी है. बेमौसम की बारिश एक बार फिर परेशानी खड़ी कर सकती हैं. इस मौसम में बच्चों में सर्दी, जुकाम आम हो जाता है. यही वजह है कि डाक्टरों ने सावधानी बरतने की अपील की है.

बुधवार को चौबिस घंटे के भीतर 22 मरीजों की मौत हो गई. इनमें जिले के 18 मरीजों का समावेश रहा. जबकि 4 मरीज जिले से बाहर के रहे. इस तरह अब तक मरने वालों की संख्या 2704 हो गई है. बुधवार को 835 मरीजों को ठीक होने के बाद छुट्टी दी गई. इस तरह अब तक 71602 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं. अधिकाधिक मरीजों के ठीक होने की वजह से अब रिकवरी रेट 85.16 फीसदी तक पहुंच चुका है. बुधवार को 976 मरीजों में संक्रमण की पुष्टी हुई. वहीं अब तक कुल मरीज 84081 हो गये हैं. फिलहाल जिले में 9775 एक्टिव केस है. इनमें आधे से अधिक होम आयसोलेशन में है.

टेस्टिंग में क्यों बरती जा रही कंजूसी

पिछले दिनों प्रशासन द्वारा घर-घर जाकर लोगों की जांच की मुहिम शुरू की. इसके बावजूद टेस्ट कराने वाले नहीं बढ़ रहे हैं. बुधवार को कुल 5918 लोगों की जांच की गई. बताया जा रहा है कि जिन कर्मचारियों को जांच की जिम्मेदारी सौंपी गई है वे केवल जानकारी लेकर ही दस्तावेज तैयार कर रहे हैं. वहीं मनपा द्वारा शुरू की गई मोबाइल सेवा का भी अधिकाधिक लोग लाभ नहीं उठा रहे हैं. गंभीर होने के बाद ही लोग अस्पतालों में जा रहे हैं और कोविड की जांच करा रहे हैं. जबकि संदेह होने पर हर व्यक्ति को जांच करना ही चाहिए. नागपुर को छोड़कर जिले में अब भी टेस्टिंग की गति धीमी ही है.

सिटी में अब तक की स्थिति

84081 कुल संक्रमित

2704 की मौत

71602 हुये ठीक

976 बुधवार को पाजिटिव