ग्रामीण भागों के स्कूलों में बजी घंटी, नियमों के पालन के साथ ग्राम पंचायतों ने दी मंजूरी

    • 92 स्कूल जिले में शुरू 
    • 1,830 छात्र पहले दिन आये 
    • 754 स्कूल ग्राम पंचायत स्तर पर 
    • 378 शिक्षकों ने ली क्लास 

    नागपुर. कोरोना मुक्त ग्रामीण भागों में 8वीं से 12वीं तक ऑफलाइन स्कूल शुरू करने संबंधी निर्देश के बाद गुरुवार से एक बार फिर रौनक लौट आई. शिक्षा विभाग ने कोरोना नियमों के पालन के साथ स्कूल शुरू करने की अनुमति दी है. स्कूल शुरू होने के साथ ही एक ओर जहां पालकों ने राहत की सांस ली वहीं दूसरी ओर छात्रों में उत्साह नजर आया. जिले में कुल 92 स्कूल शुरू हुए हैं जिनमें पहले दिन 1,830 छात्रों की उपस्थिति रही. सर्वाधिक 14 स्कूल काटोल तहसील में शुरू हुए. वहीं सावनेर तहसील में कोई भी स्कूल शुरू नहीं हो सके. 

    शालेय शिक्षा विभाग ने कोरोना मुक्त गांवों में 8वीं से 12वीं तक स्कूल करने की अनुमति दी है. स्कूल शुरू करने से पहले विभाग ने सर्वेक्षण कर 81 फीसदी पालकों की सहमति ली थी. बाद में ग्राम पंचायत की ओर से भी मंजूरी दे दी गई. जिले में ग्राम पंचायत स्तर पर 8वीं से 12वीं तक की 754 स्कूल हैं. इनमें से 69 ग्राम पंचायतों ने ही स्कूल शुरू करने की अनुमति दी. यही वजह रही की कि जिले में 92 स्कूल ही शुरू हो सकें. पहले दिन 378 शिक्षकों ने उपस्थिति दर्ज कराई. काटोल के साथ रामटेक में 11, नरखेड़ 10, उमरेड 9, हिंगना 7, मौदा, भिवापुर व कुही में 6, कलमेश्वर 5, पारशिवनी व कामठी क्रमश: 3 व 2 स्कूल शुरू हुए.

    कोरोना नियमों का सख्ती से पालन 

    शालेय शिक्षण विभाग ने स्कूलों के लिए नियमावली भी जारी है. इसके तहत कोरोना नियमों का सख्ती से पालन अनिवार्य किया गया है. साथ ही शिक्षकों को संभव हो सके तो गांव में ही रहने या किसी सार्वजनिक परिवहन सेवा का उपयोग नहीं करने की हिदायत दी है. वहीं छात्रों को भी सार्वजनिक परिवहन से स्कूल नहीं आने को कहा गया है, ताकि कोरोना के संक्रमण की संभावना न रहे. एक क्लास में 15-20 छात्रों को बैठाने की अनुमति दी गई है. वहीं मास्क भी अनिवार्य किया गया है. वैसे जिले में कोरोना का प्रादुर्भाव कम होने लगा है. कुछ गांवों में एक भी मरीज नहीं है. यही वजह है कि ग्राम पंचायतों ने पिछले 15 दिनों के मामलों की पड़ताल के बाद स्कूल करने की अनुमति दी है.

    सिटी में अभी और इंतजार 

    हालांकि ग्रामीण भागों में स्कूलों के बंद दरवाजे खुल गए हैं लेकिन सिटी में अगले महीने तक स्कूल खुलने की संभावना कम ही नजर आ रही है. फिलहाल सिटी में कोरोना के मामले कम हुए हैं. गुरुवार को ग्रामीण में जहां 8 पॉजिटिव मिले वहीं शहर में 9 संक्रमित मिले हैं. इसका मतलब साफ है कि अब धीरे-धीरे वायरस कमजोर हो रहा है लेकिन डॉक्टरों ने अगले महीने से मरीजों की संख्या बढ़ने की संभावना व्यक्त की है. यही वजह है कि सरकार फिलहाल शहरी भागों में स्कूल खोलने की जल्दबाजी के मूड में नहीं है.

    कहां कितने स्कूल शुरू 

    तहसील  स्कूल 

    काटोल   14 

    रामटेक 11 

    नरखेड़ 10

    उमरेड 9 

    हिंगना  7

    मौदा 6

    कलमेश्वर 5

    कामठी  2