arrest

  • RPF ने किया अरेस्ट, 15,000 रुपये की टिकटें जब्त

नागपुर. मध्य रेल नागपुर मंडल के रेलवे सुरक्षा बल की अपराध जांच शाखा (सीआईबी ) द्वारा कोराडी से एक ई-टिकट एजेंट को धरदबोचा. उसके पास से 11 लाइव टिकटों समेत 15,000 रुपये की टिकटों समेत कुल 39,449 रुपये का सामान जब्त किया गया. आरोपी का नाम विद्यानगर, कोराडी निवासी प्रतीक अशोक ढोमने (29) बताया गया है.

प्राप्त जानकारी के अनुसार, महालक्ष्मी नेट कैफे का संचालक प्रतीक पहले आधिकारिक आईआरसीटीसी एजेंट था और उसके पास सारथी ई-टिकट एजेंट का लाइसेंस भी था. सीआईबी को गुप्त सूचना मिली कि प्रतीक अपने कैफे से ई-टिकट बनाकर यात्रियों से कमीशन वसूल रहा है. जानकारी पुख्ता होते ही सीआईबी पीआई सुधीर कुमार मिश्र, सीएल कनोजिया, एपीआई आरके यादव, मनोज काकड़, आनंद करवाड़े के अलावा मंडल सुरक्षा आयुक्त कार्यालय से अश्विन पवार तथा अमित बारापात्रे ने कैफे पर छापामार कार्रवाई की.

पहले बरगलाया, फिर कबूला अपराध
कार्रवाई के दौरान प्रतीक कैफे में ही मिल गया. ई-टिकट बुकिंग के बारे में पूछने पर पहले तो उसने सीआईबी टीम को बरगलाने की कोशिश की. लेकिन थोड़ी सख्ती के बाद अपना अपराध कबूल लिया. उसने बताया कि हर यात्री से प्रति टिकट 200 से 300 रुपये का कमीशन लेता है. उसने खुद ही 18 टिकटें टीम के सामने रख दी. इनमें 11 टिकटें लाइव थी जिनकी कीमत 9215 रुपये थी.

इसके अलावा 5734 रुपये की पुरानी टिकटें, मोबाइल, प्रिंटर और कम्प्यूटर समेत कुल 39449 रुपये का माल जब्त कर लिया गया. आगे की कार्रवाई के लिए मामला आरपीएफ थाने के सुपूर्द कर दिया. बाकी कार्रवाई मंडल सुरक्षा आयुक्त आशुतोष पांडेय के मार्गदर्शन में पीआई आरआर जेम्स के निर्देश एपीआई दिलीप सिंह द्वारा पूरी की गई.