Cows locked in room, 43 cows died
File Photo

    नागपुर. गौहत्या के खिलाफ पुलिस द्वारा नकेल कसने के कारण कसाइयों ने अब अपने घरों में ही कत्लखाना बना लिया है. घरों में ही गोवंशों को काट कर उनका मांस बाजार में बेचा जा रहा है. मंगलवार की रात गोपनीय जानकारी के आधार पर तहसील पुलिस ने एक कसाई के घर पर छापा मारकर 47 गौवंश बरामद किए. पकड़े गए आरोपियों में छोटी खदान, हंसापुरी निवासी मोहम्मद इसराइल गुलाम रसुल कुरैशी (38) और शादाब अशफाक अहमद कुरैशी (21) का समावेश है.

    पुलिस को जानकारी मिली थी कि छोटी खदान परिसर में शिवाजी नाइट स्कूल के पीछे कुछ कसाइयों ने गौवंशों को क्रूरता से बंधक बना रखा है. यहां गौहत्या कर मांस बाजार में बेचा जाता है. खबर के आधार पर पुलिस ने छापा मारा. पहले इसराइल के घर के 1 रूम की तलाशी ली गई. वहां 14 मवेशी बरामद हुए. सत्तूर, चाकू और हथौड़ी बरामद हुई. इसराइल के घर के बगल में स्थित टीन के शेड की तलाशी लेने पर 18 गौवंश मिले.

    यहां पुलिस की कार्रवाई चल रही थी कि बगल की 4 मंजिला इमारत से गौवंशों की आवाज सुनाई दी. पुलिस ने गोदाम की जांच की तो वहां भी 15 गौवंश बरामद हुए. पंचों के समक्ष 47 गौवंश को कब्जे में लेकर गौरक्षण भेजा गया. पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ विविध धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है.

    डीसीपी लोहित मतानी और एसीपी संजय सुर्वे के मार्गदर्शन में इंस्पेक्टर जयेश भांडारकर, बलिरामसिंह परदेशी, एपीआई संदीप बागुल, सब इंस्पेक्टर स्वप्निल वाघ, एस. सावरकर, एएसआई संजय दुबे, कांस्टेबल पुरुषोत्तम, रुपेश और मुकुंद ने कार्रवाई को अंजाम दिया.