cleaning Workers, Nagpur
Representational Pic

  • एवजदारों को स्थायी करने के मामले में महापौर का अल्टीमेटम

नागपुर. मनपा में एवजदार के रूप में 30 सितंबर 2020 तक जिनकी सेवाओं को 20 वर्ष पूरे हो चूके है, ऐसे सभी सफाई एवजदार कर्मचारियों को स्थायी करने का निर्णय मनपा द्वारा लिया गया है. इस प्रक्रिया को गति देकर दीपावली के पूर्व सभी को स्थायी रूप से नियुक्त करने की प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश महापौर संदीप जोशी ने दिए.

कुछ मामलों में जोनल कार्यालय का हवाला देकर लाभ से वंचित रखे जाने की शिकायत की गई. जिस पर महापौर ने 3 दिनों के भीतर इस संदर्भ में जानकारी प्रेषित करने तथा जानकारी नहीं देने पर स्वास्थ्य अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश प्रशासन को दिए. एवजदार सफाई कर्मचारियों के संदर्भ में बैठक ली गई. स्थायी समिति सभापति पींटू झलके, दयाशंकर तिवारी, अति. आयुक्त संजय निपाने, उपायुक्त निर्भय जैन, प्रदीप दासरवार, महेश धामेचा आदि उपस्थित थे.

100 वारिसों को दिया था एवजदार कार्ड

उल्लेखनीय है कि मनपा की सेवा में कार्यरत रहते दौरान कई एवजदार सफाई कर्मचारी गंभीर रूप से बीमार होने के बाद उनकी मृत्यु हो गई. यहां तक कि गंभीर रूप से बीमारी के चलते अयोग्य घोषित किए गए. इस तरह के सफाई कर्मचारियों के वारिसों को एवजदार कार्ड देने का निर्णय मनपा की सभा में लिया गया था. मनपा की सभा में लिए गए फैसले के अनुसार लगभग 100 वारिसों को एवजदार कार्ड दिए गए थे. किंतु प्रशासन की लापरवाही के चलते कई एवजदार लाभ से वंचित होने की शिकायत एवजदार सफाई कर्मचारियों के प्रतिनिधियों की ओर से दी गई. प्रशासन की ओर से बताया गया कि जोनल कार्यालय द्वारा प्रक्रिया हुई है. किंतु जोनल स्तर पर हुई कार्यवाही की जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई. जिस पर महापौर ने उक्त निर्देश जारी किए. 

लाड-पागे समिति की सिफारिशों पर भी शुरू करें प्रक्रिया

 महापौर ने कहा कि एवजदार सफाई कर्मचारियों से जुड़े कई विषय है. जिसे लेकर प्रशासन की ओर से उचित पहल नहीं की जा रही है. अत: सभी विषयों को लेकर तुरंत आवश्यक कार्यवाही की जानी चाहिए. उन्होंने लाड-पागे समिति की सिफारिशों के अनुसार सफाई कर्मचारियों के वारिसों को नियुक्ति करने की प्रक्रिया भी तुरंत शुरू करने के निर्देश महापौर को दिए.