CRIME

  • 18 महीने से नहीं भरा बिल, बिजली काटने की कार्रवाई की गई

नागपुर. महावितरण के कर्मचारियों के खिलाफ बकायेदार ग्राहकों का दुर्व्यवहार की घटनाएं बढ़ती ही जा रही हैं. मीटर कनेक्शन काटने से गुस्साये दो लोगों ने महिला कर्मचारी व उनके सहायक से मारपीट व छीनाझपटी की घटना के बाद फिर दो बकायेदारों द्वारा टीम को जान से मारने की धमकी देने का मामला सामने आया है. महावितरण ने धमकी देने वालों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज की है.

कंपनी की ओर से बताया गया कि खरबी बितरण केन्द्र के सहायक अभियंता हरीश मुंगसे अपने मातहत आसिफ शेख व दो महिला कर्मचारियों के साथ बाबा जातनगर, शारदा सोसाइटी परिसर में बकायेदारों से बिल की वसूली कर रहे थे. ग्राहक शब्बीर शेख और शहजाद अली ने पिछले 18 महीनों से बिल नहीं चुकाया है जिसके चलते उनका बकाया क्रमश: 27,000 और 31,000 हो चुका है. कर्मचारियों ने जब बिल जमा करने को कहा तो साफ इनकार कर दिया. इस पर दोनों के घरों की बिजली काटने की कार्रवाई की गई.

भीड़ जमा कर बनाया दबाव

बिजली काटने की कार्रवाई होते ही दोनों ग्राहकों ने भीड़ जमा कर ली और कर्मचारियों के साथ गालीगलौज कर जान से मारने की धमकी दी. महिला कर्मचारी खोड़े का मोबाइल भी छीन लिया. टीम ने तत्काल पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने दोनों आरोपियों को वाठोड़ा पुलिस थाना ले गई. दोनों के खिलाफ विविध धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. इस दौरान महावितरण कांग्रेसनगर विभाग के कार्यकारी अभियंता हेमराज ढोके, उप कार्यकारी अभियंते संजय मते उपस्थित थे. पुलिस मामले की जांच कर रही है.