Baby girl dies in leopard attack
File photo

  • गोरेवाड़ा बचाव केन्द्र में चल रहा उपचार

नागपुर. गोरेवाड़ा बचाव केन्द्र में नागभीड़ और गोंदिया वन परिक्षेत्र से लाग गए बाघिन और तेंदुए की हालत नाजूक बताई जा रही है. शनिवार की देर रात करीब 11 बजे बचाव केन्द्र की ओर से मिली जानकारी के अनुसार 21 जून को नागभीड़ वन परिक्षेत्र अंतर्गत बामणी मोहाली में एक गोशाला में बाघिन घूस गई थी. बता दें की बाघिन ने 2 लोगों पर हमला किया है.

ताड़ोबा वन विभाग ने उसे बेहोश कर गोरेवाड़ा बचाव केन्द्र भेजा था. वन्यजीव विशेषज्ञों ने बाघिन की हालत चिंचाजनक बताई है. पशूवैद्यकियों द्वारा जांच करने पर बाघिन के शरीर पर भारी मात्रा में जोख पाए गए. डॉक्टर बाघिन का उपचार कर रहे है. इसके अलावा गोंदिया अर्जुनी मोरगांव से उपचार के लिए लाए गए तेंदुए की हालत भी नाजूब बताई जा रही है. तेंदुए एक बिमारी से त्रस्त है. दुर्घटना में घायल हुए तेंदुआ का उपचार बचाव केन्द्र में किया जा रहा है.