Nitin Raut Meeting

  • 15 तक सादर करने का निर्देश

नागपुर. पालक मंत्री नितिन राऊत ने सभी संबंधित विभागों को वित्तीय वर्ष 2020-21 की योजनाओं के लिए प्रस्ताव 15 मार्च तक किसी भी हालत में सादर करने का निर्देश जिला नियोजन की समीक्षा बैठक में दिया. उन्होंने इस पर नाराजी भी जताई कि विभाग इस ओर से गंभीर नहीं हैं. उन्होंने 15 मार्च तक आयपास प्रणाली पर सारे प्रस्ताव सादर करने का निर्देश दिया. उन्होंने कोविड-19 के हालातों और आचारसंहिता लगने की संभावना को देखते हुए तत्काल नियोजन करने का निर्देश दिया है.

बैठक में जिलाधिकारी रवींद्र ठाकरे, जिला नियोजन अधिकारी मिलिंद नारिंगे, मेडिकल के डीन डॉ.सुधीर गुप्ता, मेयो के डीन अधिष्ठाता डॉ. अजय केवलिया, महावितरण मुख्य अभियंता दिलीप दोडके, समाज कल्याण विभाग सहायक आयुक्त बाबासाहब देशमुख, अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी कमलकिशोर फुटाणे, एनआईटी अधीक्षक अभियंता लीना उपाध्ये, ऊर्जा विकास अभिकरण के वैभव पाठोडे सहित अन्य विभाग के अधिकारी उपस्थित थे.

निधि अखर्चित रही तो कार्रवाई

राऊत ने मार्च महीने के अंत तक निधि आहरित कर खर्च करने का निर्देश दिया साथ ही चेतावनी दी कि अगर निधि अखर्चित रही तो संबंधित अधिकारी पर कार्रवाई की जाएगी. इस संदर्भ में कोषागार की कोई अड़चन हो तो जिलाधिकारी से संपर्क करने का निर्देश उन्होंने सभी अधिकारियों को दिया. जिस विभाग द्वारा निधि खर्च नहीं होने वाली है वे 15 मार्च के पहले निधि पुनर्विनियोजन द्वारा वापस करें.

15 मार्च के बाद यह स्वीकार नहीं की जाएगी. इसके साथ ही पुर्ननियोजित प्रस्ताव भी सादर करें. आयपास व बीडीएस दोनों सिस्टम में निधि वापस करें. बैठक में रास्ते विकास, महावितरण की योजना, शहर के लिए बाढ़ संरक्षण योजना, स्वास्थ सुविधाओं के कार्य, नगर विकास के कार्य, पालक मंत्री पेयजल योजना, नाविन्यपूर्ण योजना के अंतर्गत कार्यों की स्थिति आदि की समीक्षा की गई.