Vote Counting, Nagpur

दूसरे राउंड तक मिले वोट

  • 24,114 अभिजीत वंजारी (मविआ)
  • 16,852 संदीप जोशी (भाजपा)
  • 3,644 अतुल कुमार खोबरागड़े
  • 2,999 नितेश कराले

नागपुर. अब तक भाजपा के कब्जे में रही नागपुर संभाग पदवीधर सीट पर इस बार कांग्रेस के अभिजीत वंजारी जबरदस्त सेंध लगाते दिख रहे हैं. खबर लिखे जाने तक 3 राउंड की गिनती में वंजारी भाजपा के उम्मीदवार सिटी के मेयर संदीप जोशी से करीब 11 हजार वोटों से आगे चल रहे थे. हालांकि खबर लिखे जाने तक चौथे राउंड की गिनती शुरू हो चुकी थी. वंजारी महाविकास आघाड़ी के उम्मीदवार हैं और वे भाजपा को जबरदस्त चुनौती देते हुए पहले ही राउंड से आगे चल रहे थे. वंजारी के लगातार तीन राउंड में आगे रहने से उनकी जीत का जश्न कांग्रेसी खेमे में मनाना शुरू कर दिया गया था. विभागीय क्रीड़ा संकुल परिसर में देर रात तक कांग्रेस कार्यकर्ता डटे रहे. कांग्रेस का झंडा लहराते हुए वे वंजारी और कांग्रेस के समर्थन में नारेबाजी भी कर रहे थे. उन्हें पक्का यकीन हो गया था कि वंजारी ही चुनाव जीत रहे हैं. हालांकि उस समय चौथे राउंड की काउंटिंग चल रही थी. शहर अध्यक्ष विकास ठाकरे भी देर रात काउंटिंग स्थल पर पहुंचे और कार्यकर्ताओं के साथ उन्होंने भी खुशी जाहिर की. 

पहले राउंड से ही लीड

पहले राउंड में 28,000 मतों की गिनती हुई जिसमें अभिजीत वंजारी को 12,617 वोट मिले और संदीप जोशी को 7,767 वोट हासिल हुए. पहले राउंड में वंजारी 4,850 वोटों से आगे रहे. इस राउंड में 2,234 वोट अवैध ठहराये गए. वहीं नितेश कराले को 1,742, अतुल कुमार खोबरागड़े को 1,734 मिले. उसके करीब दो घंटे के बाद दूसरे राउंड की काउंटिंग का परिणाम घोषित किया गया जिसमें भी वंजारी ही आगे रहे. उन्हें दूसरे राउंड में 11,497 मत मिले और जोशी को 9,085 वोट मिले. दूसरे राउंड में अतुल कुमार खोबरागडे को 1,910 और नितेश कराले को 1,257 वोट हासिल हुए. दो राउंड में वंजारी को कुल 24,114 वोट मिले और जोशी को 16,852 मत हासिल हुए. दूसरे राउंड तक वंजारी की लीड 7,262 वोटों की हो गई थी. दूसरे राउंड की काउंटिग तक राजेंद्र कुमार चौधरी को 92, इंजीनियर राहुल वानखेड़े 1,521, एड. सुनीता पाटिल 65, अतुलकुमार खोब्रागड़े को 3,64४, अमित मेश्राम 35, प्रशांत डेकाटे 609, नितीन रोंघे 228, डा. प्रकाश रामटेके 6८, बबन तायवाडे 41, एड. मोहम्मद शाकीर अ.गफ्फार 25, सी.ए. राजेंद्र भुतड़ा 731, प्रा.डा. विनोद राऊत 78, एड. विरेंद्र कुमार जायस्वाल 38, शरद जीवतोडे 17, प्रा.संगीता बढे 41 और इंजीनियर संजय नासरे को 33 मत हासिल हुए थे. वहीं अवैध वोटों की संख्या 4,769 हो चुकी थी. कुल वैध वोट 51,231 ठहराये गए. 

जीत के लिए कोटे की जरूरत

पदवीधर चुनाव में वोटिंग मतदाताओं को पंसदीक्रमानुसार करना होता है. पहले पहली पसंद की काउंटिंग होती है. इसके लिए वैध मतों के 50 फीसदी प्लस 1 वोट का कोटा जीत के लिए निर्धारित है. जीतने वाले उम्मीदवार को काउंटिंग में जितने भी वैध वोट होते हैं उसका 50 फीसदी से 1 वोट हासिल करना जरूरी होता है. अगर वह इतना मत प्राप्त नहीं कर पाता लेकिन अपने प्रतिद्वंद्वियों से वोटों में आगे रहता है तब दूसरे पसंदी के वोटों की काउंटिंग करनी होती है. दूसरी पसंदी के वोटों की गिनती के बाद उम्मीदवारों को मिले मतों का एक निर्धारित सूत्र से गणना कर परिणाम घोषित किया जाता है. अगर दूसरी पसंदी के वोटों की गणना में भी परिणाम ना निकले तो फिर तीसरी, और चौथे आदि पसंदीक्रम की काउंटिंग होती है. नागपुर संभाग में इस बार 64.34 फीसदी मतदान हुआ है. कुल 1,32,923 मतदाताओं ने वोटिंग की है. इसमें से जितने वोट अवैध होंगे उसे घटाकर जो वोट की संख्या बचेगी उसका 50 फीसदी प्लस 1 वोट विजेता को हासिल करना होगा.