Maharashtra Vaccination
PTI Photo

    नागपुर. कोरोना की दूसरी लहर पूरी तरह कमजोर पड़ने के बावजूद अब तीसरी लहर का संकट टला नहीं है. इससे बचाव के लिए हर स्तर पर वैक्सीनेशन को भले ही कारगर उपाय माना जा रहा हो लेकिन मनपा का वैक्सीनेशन अभियान पूरी तरह ठंडे बस्ते में है. आलम यह है कि सप्ताह में मुश्किल से 1-2 दिन वैक्सीनेशन की प्रक्रिया चलाई जाती है जबकि अधिक समय तक सेंटर्स बंद ही रखे जा रहे हैं. अब मंगलवार को भी सभी सेंटर्स बंद होने की जानकारी अति. आयुक्त राम जोशी ने जारी की.

    जानकारों के अनुसार वैक्सीनेशन अभियान को लेकर प्रशासन के कोई कारगर कदम दिखाई नहीं दे रहे हैं. यहां तक कि सत्तापक्ष भी इस संदर्भ में कोई चर्चा नहीं कर रहा है. यही कारण है कि सत्तापक्ष को शांत देख प्रशासन की ओर से ढीला रवैया अपनाया जा रहा है.

    कोवैक्सीन के भरोसे चल रहा अभियान

    सूत्रों के अनुसार मनपा का वैक्सीनेशन अभियान केवल कोवैक्सीन के भरोसे चलाया जा रहा है जबकि मनपा को कोविशील्ड की वैक्सीन उपलब्ध नहीं हो रही हैं. मंगलवार को भी कोविशील्ड के वैक्सीनेशन सेंटर तो बंद रहेंगे लेकिन 18 प्लस और 45 प्लस को कोवैक्सीन का पहला और दूसरा डोज दिया जाएगा. मेडिकल अस्पताल, इंदोरा चौक स्थित डॉ. बाबासाहब आम्बेडकर अस्पताल, महल रोग निदान केंद्र पर कोवैक्सीन का डोज दिया जाएगा. उल्लेखनीय है कि मनपा की ओर से वैक्सीनेशन के लिए जोरशोर से ‘वैक्सीन आपके द्वार’ और मॉल के पार्किंग एरिया में ड्राइव इन वैक्सीनेशन जैसे अभियान शुरू किए गए थे. लेकिन ये अभियान भी अब पूरी तरह ठप हो गए हैं. 

    पार्षद हो गए नदारद

    • अपने-अपने क्षेत्र में वैक्सीनेशन सेंटर खोलने की पार्षदों में शुरुआत में होड़ सी लग गई थी. हर दूसरे दिन सत्तापक्ष के पदाधिकारियों का उद्घाटन सत्र शुरू हो गया था किंतु अब यही वैक्सीनेशन सेंटर ठंडे पड़े है. 
    • उद्घाटन करने वाले पार्षदों का भी सेंटर पर ध्यान नहीं है. वैक्सीनेशन सेंटर हर दूसरे दिन बंद होने से क्षेत्र के संबंधित लोगों में रोष भी है. लोगों का मानना है कि जिस समय लोग वैक्सीनेशन से मुंह मोड़ रहे थे. 
    • महानगरपालिका वैक्सीन लेने के लिए लोगों के घरों तक पहुंच रही थी. जनजागृति कर वैक्सीन लेने के लिए उत्साहित कर रहे थे. अब जब जनता वैक्सीन के लिए तैयार है तो मनपा के पास वैक्सीन ही उपलब्ध नहीं है जबकि निजी अस्पतालों में वैक्सीनेशन अभियान बदस्तूर जारी है. 

    पहला डोज :-

    स्वास्थ्य सेवक 46,410

    फ्रंट लाइन वर्कर 53,358

    18 प्लस युवा 2,17,617

    45 प्लस उम्र के 1,61,639

    45 प्लस कोमोरबिड 87,280

    60 प्लस सभी लोग 1,88,067

    पहला डोज – कुल 7,54,371

    दूसरा डोज :-

    स्वास्थ्य सेवक 26,202

    फ्रंट लाइन वर्कर 24,871

    18 प्लस युवा 10,611

    45 प्लस उम्र के 88,140

    45 प्लस कोमोरबिड 24,821

    60 प्लस सभी लोग 1,04,754

    दूसरा डोज – कुल 2,79,399