Vaccination

  • 22,000 वैक्सीन शहर के लिए उपलब्ध
  • 10,000 कर्मचारियों को पहले चरण में टीके

नागपुर. कोरोना से निपटने के लिए अब वैक्सीन का इंतजार तो खत्म हो गया, किंतु वास्तविक प्रक्रिया अभी बची हुई है. मनपा को भी 22 हजार कोविशिल्ड वैक्सीन उपलब्ध कराई गई है. प्रथम चरण में 10 हजार स्वास्थ्य कर्मचारियों को कोविशिल्ड का वैक्सीन लगाया जाना है. जिसके लिए गुरुवार को वैक्सीन प्रक्रिया को ‘फाइनल टच’ देने के लिए अंतिम बार ड्राई रन लिया गया. यहां तक कि महापौर दयाशंकर तिवारी ने फुटाला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर टीकाकरण की तैयारियों का जायजा लिया. 

5 केंद्रों पर ही होगा टीकाकरण

गुरुवार को भले ही 10 केंद्रों पर ड्राई रन लिया गया हो, किंतु वास्तविक रूप में राज्य सरकार की ओर से दिए गए निर्देशों के अनुसार मेयो, मेडिकल, एम्स, डागा और महल स्थित रोग निदान केंद्र जैसे 5 केंद्रों पर ही टीकाकरण किया जाएगा. शहर में कुल 24,500 स्वास्थ्य कर्मचारियों को टीका लगाया जाना है. किंतु पहल चरण में केवल 10 हजार कर्मचारियों को ही टीका लगेगा. चूंकि एक व्यक्ति को 2 टीके लगाए जाने हैं. अत: दोनों टीके एक ही कम्पनी के होना अनिवार्य है. इसमें भी दूसरा टीका 28 दिनों के बाद लगाया जाना है. अत: एहतियात के लिए केवल 22 हजार डोज उपलब्ध हुए हैं. अत: 10 हजार स्वास्थ्य कर्मचारियों को टीका लगाने के 28 दिनों बाद इन्हीं कर्मचारियों को दूसरा डोज देने की प्रक्रिया पूरी की जाएगी. जिसके बाद शेष कर्मचारियों को वैक्सीन का पहला डोज देने की प्रक्रिया होगी. 

चरणबद्ध तरीके से बढ़ेंगे केंद्र

16 जनवरी से शुरू हो रहे टीकाकरण में प्रत्येक केंद्रों पर 100 के अनुसार प्रतिदिन 5 केंद्रों पर 500 कर्मचारियों को ही टीके लगाए जाएंगे. इन कर्मचारियों में आनेवाले लक्षणों पर भी बारीकी से नजर रखी जाएगी. किंतु नियम यह है कि कर्मचारी को जिस कम्पनी का वैक्सीन लगाया जाएगा, उसका दूसरा डोज भी उसी कम्पनी का होना अनिवार्य है.

यहीं कारण है कि चरणबद्ध तरीके से टीका केंद्रों को बढ़ाया जाएगा. जबकि प्राथमिक स्तर पर केवल 5 केंद्रों पर टीकाकरण शुरू करने की हिदायत सरकार की ओर से दी गई है. टीका लगाने के आधा घंटा बाद कर्मचारियों पर नजर रखी जाएगी. जिसके बाद उसे घर भेजा जाएगा. यदि घर में किसी तरह की स्वास्थ्य परेशानी हुई तो उसे 108 नंबर पर फोन कर सूचना देनी होगी. 

इन केंद्रों पर हुआ ड्राई रन

महल रोग निदान केंद्र, पारडी नागरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, मानेवाडा नागरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, कल्पवृक्ष अस्पताल, मेहंदीबाग नागरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, जाफरी अस्पताल, आयसोलेशन अस्पताल, पांचपावली सुतिकागृह, इंदोरा नागरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और फुटाला नागरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र.