Six Congress MLAs resign in Manipur

  • पेट्रोल-डीजल महंगाई का विरोध

नागपुर. पेट्रोल-डीजल के दामों में हो रही लगातार वृद्धि को लेकर युवक कांग्रेस ने केंद्र सरकार के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन किया. प्रदेश उपाध्यक्ष कुणाल राऊत ने कहा कि पेट्रोल-डीजल की कीमत में वृद्धि का असर सीधा आम जनता पर पड़ रहा हैं, जनता पहले ही कोरोना की वजह से परेशान है वहीं दूसरी ओर पेट्रोल की कीमत बढ़ने से उनकी जेब पर बोझ बढ़ता जा रहा है. उन्होंने कहा कि अपने भाषणों में पीएम मोदी पेट्रोल-डीजल के भाव आधा से भी कम करने की बात करते थे लेकिन आज क्रूड आइल सस्ता होने के बाद भी दाम में मनमानी वृद्धि की जा रही है. ऐसा देश में पहली बार हुआ है जब कोरोना का संकट झेल रही जनता पर महंगाई की दोहरी मार सरकार मार रही है.

पेट्रोल डालने को पैसे नहीं
राऊत ने कहा कि लोगों के पास पहले ही आर्थिक स्रोत कोरोना महामारी ने कम कर दिये हैं. ऐसे लोग जो 8-10 हजार रुपयों की नौकरी करते हैं उनके पास तो पेट्रोल डालने के लिए भी बजट नहीं बचा है. उनके नेतृत्व में कामठी रोड इंदौर चौक पर जीप को रस्सी से खींचकर अनोखा विरोध प्रदर्शन किया गया. साथ ही पेट्रोल-डीजल के दाम करने की मांग की गई. विरोध प्रदर्शन में अजीत सिंह, धीरज पांडे, सतीश पाली, आसिफ शेख, गौतम अंबादे, सचिन वासनिक, दुर्गेश पांडे, ज्योति खोबरागडे, निलेश खोबरागडे, प्रणय सिंह ठाकुर, हफीज अंसारी, शेख शहनवाज, इरफान शाह, शहजाद खान, शाहरुख शेख, तपन बोरकर आदि उपस्थित थे.

जीना हुआ मुश्किल : ओझा
कांग्रेस समिति के महासचिव रामकिशन ओझा व किशोर गजभिये के नेतृत्व में भी मोदी सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई. कार्यकर्तोओं ने हाथ में पोस्टर्स लेकर विरोध प्रदर्शन किया. उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने कोरोना संकट काल में पेट्रोल डीजल के दाम मनमाने तरीके से बढ़ाकर लोगों का जीना मुश्किल कर दिया है. इस दौरान त्रिशरण सहारे, अभय रणदिवे, दादाराव डोंगरे, सुमेध भगत, विणा बेलगे, मेशेक चक्रनारायन, रफीक पठान, हेमंत गोरले सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शामिल हुए.