File Photo
File Photo

    नाशिक. शहर में लगातार कोरोना मरीजों (Corona Patients) की संख्या बढ़ रही है, जिससे मनपा प्रशासन चिंतित है, वहीं विभाग के दो अधिकारी वैद्यकीय अधीक्षक डॉ. बापूसाहेब नागरगोजे और नोडल अधिकारी, सहायक वैद्यकीय अधिकारी आवेश पलोड की कोरोना संक्रमित पाए गये। दोनों अधिकारियों को होम क्वारंटीन में रखकर उपचार कराया जा रहा है। एक के बाद एक मनपा अधिकारियों के कोरोना पॉजिटिव होने से प्रशासन हलाकान है। 

    डॉ. नागरगोजे का पदभार मलेरिया विभाग के प्रमुख डॉ. राजेंद्र त्र्यंबके को सौंपा गया है। कुछ दिन पहले मुख्यालय में 14 कोरोना मामले सामने आए थे।

    त्र्यंबकेश्वर में 8 दिनों का कर्फ्यू

    उधर, नाशिक जिले में कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है, जिसे ध्यान में रखकर त्र्यंबकेश्वर में 29 मार्च से 4 अप्रैल तक जनता कर्फ्यू की घोषणा की गयी। नगराध्यक्ष पुरुषोत्तम लोहगावकर ने जानकारी देते हुए कहा कि कोरोनाकाल में अनिष्ट परिणाम दिखाई देने से जनता कर्फ्यू का निर्णय लिया गया है। इस दौरान मेडिकल और दूध बिक्री के अलावा अन्य सभी सुविधाएं बंद रहेगी। बैठक में प्रांताधिकारी तेजस चव्हाण, तहसीलदार, पुलिस अधिकारी, व्यापारी उपस्थित रहे।